लेडीज ब्यूटी पार्लर कैसे शुरू करें – बिजनेस प्लान

ladies_beauty_parlour_business

आज हम ब्यूटी के बिज़नेस में लेडीज ब्यूटी पार्लर का बिज़नेस कैसे शुरू करें इसके बारे में बात करने वाले है। इसमें आपको लेडीज ब्यूटी पार्लर का बिज़नेस शुरू करने से लेकर उसके प्रॉफिट के बारे में डिटेल में बताएंगे। इसमें हम हर उस पहलु पर बात करेंगे जो आपको लेडीज ब्यूटी पार्लर बिज़नेस करने की शुरुआत से अंत तक की सारी जानकारी देगा।

इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि –

लेडीज ब्यूटी पार्लर में बिजनेस के अवसर 

कितना प्रॉफ़िट कमा सकते है 

क्या योग्यता होनी चाहिए

ब्यूटी पार्लर के हिन्दी में कोर्स 

मार्केट की जानकारी

पूंजी और इनफ्रास्ट्रक्चर

कानूनी प्रक्रियाएं

मार्केटिंग कैसे करें

कुछ जरूरी जानकारी

भारत में ब्यूटी एंड वैलनेस सेक्टर आजकल काफी बुलंदी पर है। भारत पूरी दुनिया में ब्यूटी प्रोडक्ट्स और सर्विसेज के उपभोग में दूसरे नंबर पर आता है। एफ़आईसीसीआई और केपीएमजी द्वारा दी गयी एक रिपोर्ट की मानें तो भारत ब्यूटी और वेलनेस उद्योग की रैंकिंग में टॉप 5 देशों में से एक और 2020 तक यह इंडस्ट्री 1,50,000 करोड़ रुपए तक का बिजनेस कर सकते है। भारत में ब्यूटी और वेलनेस बिजनेस का ग्रोथ करीब 18% तक है। दरअसल, भारत में ये बिजनेस केवा ग्रोथ पर नहीं है बल्कि अंदाज लगाया जा सकता है कि ये अगले 5 साल में ट्रिपल हो जाएगा।

तो ये कहना गलत नहीं होगा कि अगर आप भी इस इंडस्ट्री से इम्प्रेस्सेड हैं और इस फील्ड में कोई बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको ये काम जरूर करना चाहिए। ब्यूटी एंड वैलनेस इंडस्ट्री में ब्यूटी नुट्रिशन, फिजिकल फिटनेस और अल्टरनेटिव स्ट्रीम्स ऑफ़ थेरेपी और रेजुवेनशन जैसे अनेकों बिज़नेस के विकल्प है।

हारतीय मार्केट में ब्यूटी केयर का बिज़नेस काफी ग्रो कर रहा है। पीडबल्यूसी द्वारा दी गयी रिपोर्ट की माने तो ये इंडस्ट्री 20 साल में 25 परसेंट पर आगे बढ़ा है और ब्यूटी एंड कॉस्मेटिक प्रोडक्ट के बाद सैलून का ही बिज़नेस सबसे ज्यादा परेफरेंस में है।

Beauty aur wellness sector ka divisionब्यूटी और वेलनेस सेक्टर का प्रिफ़ेरेन्स के अनुसार डिवीजन

मूल स्रोत: पीडबल्यूसी रिपोर्ट

लेडीज ब्यूटी पार्लर में  बिजनेस के अवसर

आजकल लोग वैलनेस और ब्यूटी की तरफ जा रहे है। भारत के मिडिल क्लास से लेकर अप्पर मिडिल क्लास तक लोग देश-विदेश ज्यादा जा रहे हैं और अब्रॉड में ब्यूटी प्रोडक्ट्स और भी वेरायटीज में उपलब्ध होते हैं जिसकी वजह से अब्रॉड से वापिस आने पर लोगों का ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इंटरेस्ट और बढ़ जाता है और साथ ही मांग भी काफी बढ़ जाती है।

भारत की 1.3 बिलियन जनसंख्या में से 49% 25 वर्ष की आयु के है। इस आयु वर्ग का अपनी सेहत और खूबसूरती की तरफ रुझान सबसे ज्यादा होता है। इसमें सोशल मीडिया का भी काफी बड़ा रोल है। कई सारे बड़े नाम हैं जो कि ब्यूटी एंड वैलनेस फील्ड में ही अपना करियर बना चुके हैं और काफी फेमस हैं। उदाहरण के तौर पर सबसे फेमस शहनाज़ हुसैन को ही ले लीजिये।

तो जिस रेट में लोगों का खूबसूरती के तरफ रुझान बढ़ रहा है और सोशल मीडिया का क्रेज ऊंचाई पर है, ब्यूटी और वेलनेस इंडस्ट्री काफी आगे जाने वाली है और इस फील्ड में शुरू किया गया छोटे से छोटा बिज़नेस भी आपको काफी बेनिफिट देगा।

लेडीज ब्यूटी पार्लर बिजनेस में कमाई

लेडीज ब्यूटी पार्लर बिज़नेस में आज के लाइफस्टाइल के अनुसार देखा जाये तो कभी कमी नहीं आने वाली है। इसलिए इस बिज़नेस में प्रॉफिट कमाना और बिज़नेस को अच्छे से ग्रो करना बहुत मुश्किल नहीं है। मगर फिर भी इस बिज़नेस में प्रॉफिट होना काफी अलग-अलग फैक्टर्स पर निर्भर करता है। जैसे आपका पार्लर कौन से क्षेत्र में है आप कौन कौनसी सर्विस प्रोवाइड कर रहे हैं, आपके रेट्स बाकियों के मुकाबले कैसे है और कम्पटीशन कितना है, टाइम इत्यादि।

अगर सारे फैक्टर्स को ध्यान में रखते हुए मान लीजिये आप महीने में 3 लाख का बिज़नेस करते हैं तो आपको 50% का प्रॉफिट मिल सकता है। यानि अगर एक महीने में आप 1 लाख का बिज़नेस करते हैं तो 50 हजार का मुनाफा कमा सकते हैं।

यही बिज़नेस शादियों के सीजन में और भी ज्यादा कमाई करता है और आजकल शादियों में हर कोई चाहे लोअर या मिडिल क्लास से हो या अप्पर क्लास और हाई क्लास सभी को लेडीज ब्यूटी पार्लर की जरुरत पड़ती है। तो वो एक ऐसा टाइम है जब आप काफी ज्यादा प्रॉफिट कमा सकते हैं और अपने बिज़नेस को आगे बढ़ा सकते हैं।

कैसे शुरू करें लेडीज ब्यूटी पार्लर बिजनेस

क्या योग्यताएँ होनी चाहिए

लेडीज ब्यूटी पार्लर खोलने के लिए ज्यादा क्वालिफिकेशन की जरुरत नहीं होती है। ये एक ऐसा बिज़नेस है जो हर वो इंसान कर सकता है जिसका ब्यूटी और वैलनेस में इंटरेस्ट हो और इस फील्ड में कोई मुकाम पाना चाहता हो।

मगर आज के दौर में जब कॉम्पटीशन और क्वालिटी सर्विस की डिमांड इतनी बढ़ गयी है तो वैसे में केवल तजुर्बा काम नहीं आएगा। इसीलिए इस बिज़नेस को शुरू करने से पहले आपका किसी ब्यूटी कोर्स से सर्टिफाइड होना जरुरी हो गया है। भारत में पहले के मुक़ाबले काफी सारे नए और उपयोगी ब्यूटी स्कूल खुल चुके हैं जो आपको ब्यूटी एंड वैलनेस रिलेटेड कोर्स और सर्टिफिकेशन प्रोवाइड कराते हैं।

लेडीज ब्यूटी पार्लर के हिन्दी में कोर्स

लेडीज ब्यूटी पार्लर कोर्स कई तरह के होते है और आप इन में से अपने अनुसार कोई भी कोर्स कर सकते है, जैसे –

  • स्किन केयर कोर्स – स्किन केयर और एस्थेटिक प्रोफेशनल वो होते है जो लोगों के स्किन से जुड़ी समस्याओं जैसे एकनी, ब्लेमिश इत्यादि है।
  • मेकअप आर्टिस्ट कोर्स – मेकअप आर्टिस्ट की मांग मार्केट में बहुत है और यह एक बहुत उपयोगी कोर्स है।
  • हेयरस्टाइल कोर्स – भारत में खूबसूरत बालों को काफी सराहा जाता है और इसलिए हेयरस्टाइल एक एवरग्रीन कोर्स है जिसमें आपको बालों के लिए अलग-अलग स्टाइल सिखाया जाता है।
  • कॉस्मेटोलोगी कोर्स – ये कोर्स प्रोफेशनल मेकअप आर्टिस्ट बनने के लिए फाउंडेशन है।
  • नेल ब्यूटी और नेल आर्ट कोर्स – नेल ब्यूटी और कोर्स से आप नेल पर डिजाइनिंग करना सीखते है।
  • स्पा कोर्स – स्पा कोर्स में आप मसाज और फिजियोथेरेपी से जुड़ी चीजों के बारे में सिखाया जाता है।

इनमें से किसी भी कोर्स को करने के बाद आपकी विश्वसनीयता और भी बढ़ जाती है और आपके बिजनेस और कस्टमर पर इसका काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

भारत में ये कोर्स प्रोवाइड करने वाले कई इंस्टीटूट्स हैं। पहले ये इंस्टीटूट्स कम हुआ करते थे पर अब हर एक शहर में इंस्टीटूएस खुल गए हैं। ब्रांड और क्वालिटी ऑफ़ कोर्स के हिसाब से देखा जाये तो कई सारे इंस्टीटूट्स हैं। मगर भारत में टॉप लेवल पर कुछ इंस्टीटूट्स हैं, जैसे –

पर्ल अकेडमी – पर्ल अकेडमी भारत की टॉप 5 ब्यूटी एंड वैलनेस इंस्टीटूट्स में से एक है। इनकी ब्रांच दिल्ली, नॉएडा, मुंबई और जयपुर में है जहाँ आप कोर्स कर सकते हैं। कुछ कोर्स जो आप यहाँ सीख सकते हैं –

  • हेयर स्टाइलिंग
  • ड्रामा मेकअप
  • ब्यूटी मेकअप
  • सेलिब्रिटी मेकअप और शादियों में बालों का स्टाइल करना
  • मसाज इत्यादि

पर्ल अकादमी में एडमिशन प्रोसेस, कोर्स, अवधि और ज्यादा जानकारी के लिए आप उनके ऑफिसियल वेबसाइट से पूरी जानकारी पा सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

शाहनाज हुसैन ब्यूटी अकेडमी – शाहनाज हुसैन ब्यूटी इंडस्ट्री में एक जाना माना नाम है। शाहनाज हुसैन ब्यूटी अकादमी प्रोफेशनल ब्यूटी ट्रेनिंग में पायनियर है। कोर्स जो आप यहाँ कर सकते हैं वो हैं –

  • शाहनाज हुसैन प्रोफेशनल डिप्लोमा इन कोस्मेटोलॉजी
  • बेसिक डिप्लोमा इन ब्यूटी कल्चर एंड थेरेपी
  • डिप्लोमा इन स्किन थेरेपी
  • डिप्लोमा इन हेयर डिजाइनिंग (बेसिक & एडवांस)
  • पोस्ट-ग्रेजुएशन इन स्किन इत्यादि।

शाहनाज हुसैन ब्यूटी अकादमी में एडमिशन प्रोसेस, कोर्स, अवधि और ज्यादा जानकारी के लिए आप उनके ऑफिसियल वेबसाइट से पूरी जानकारी पा सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

लेकमी अकेडमी – लेकमी अकादमी भारत में ब्यूटी ट्रीटमेंट में लीडिंग चैन है जो कि 60 शहर में उपलब्ध है। लेकमी अकादमी से जो कोर्स आप कर सकते हैं –

  • ब्यूटी थेरेपी
  • नेल आर्ट
  • कॉस्मेटोलॉजी
  • स्किन केयर
  • हेयर केयर

लेकमी अकादमी में एडमिशन प्रोसेस, कोर्स, अवधि और ज्यादा जानकारी के लिए आप उनके ऑफिसियल वेबसाइट से पूरी जानकारी पा सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

इन इंस्टीटूट्स में ट्रेनिंग लेना और कोर्स करना आपके प्रोफेशनल ब्यूटी करियर के लिए काफी अच्छा रहेगा। लेकिन अगर आप इन इंस्टीटूट्स से कोर्सेज न भी कर पाए तो भी अपने शहर के किसी भी अच्छे इंस्टिट्यूट से कोर्स कर सकते हैं। ज्यादा इम्पोर्टेन्ट ये है कि आपको अच्छा काम आना चाहिए और ब्यूटी रिलेटेड हर चीज़ की नॉलेज होनी चाहिए।

इसके अलावा गूगल पर कई ऍप्लिकेशन्स भी उपलब्ध है जिसमें वीडियो के माध्यम से आसानी से आप मेकउप हेयर स्टाइल और कई सारी ब्यूटिशियन कोर्स और टिप्स हिंदी में सीख सकते हैं। इनमें से एक ऐप जो सबसे ज्यादा पसंद किया गया है, उस ऐप का नाम है “Beauty Parlour Course” और ये कुछ इस तरह का दिखता है –

Beauty parlour courses hindi meinBeauty parlour course hindi meinBeauty parlour course hindi mein

ये ऐप या तो आप अपने फ़ोन में प्ले स्टोर में जाकर डाउनलोड करें। डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर पर सर्च करें “Beauty Parlour Course” या फिर नीचे बटन पर क्लिक करके डाउनलोड करें –

ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

मार्केट की जानकारी

लेडीज ब्यूटी पार्लर खोलने से पहले मार्केट एरिया को लेकर कई सारे फैक्टर्स हैं जिन्हें आपको ध्यान में रखना चाहिए। इन फैक्टर्स पर ही निर्णय होगा कि आपकी शॉप कैसी होनी चाहिए और कौन से क्षेत्र में अच्छी चलेगी।

  1. बना बनाया पार्लर खरीदें या नया खोलें

एक खुद का पार्लर खोलने के लिए या तो आप किसी पहले से एक्सिस्टिंग पार्लर को खरीद सकते हैं या फिर अपना खुद का पार्लर शुरू कर सकते हैं। इन दोनों तरीके के अलग-अलग फायदे और नुकसान हैं।

बना बनाया पार्लर

फायदा


  • बना बनाया पार्लर और कंज़्यूमर बेस पाये।
  • पुराने स्टाफ को अपने साथ रखा जा सकता है।
  • बहुत ज्यादा विज्ञापन की जरूरत नहीं होती है

नुकसान


  • बने बनाए पार्लर को खरीदना महंगा होता है।
  • खरीदने के लिए ज्यादा लॉन लेने की जरूरत पड़ सकती है।
  • दुकान जहां है वहीं आपको अपना बिजनेस शुरू करना होगा।

नया पार्लर

फायदा


  • नया पार्लर खड़ा करने में इन्वेस्टमेंट कम लगती है।
  • कम पैसों में भी पार्लर शुरू किया जा सकता है
  • अपने मन चाहे लोकेशन पर दुकान शुरू कर सकते है।

नुकसान


  • नई दुकान खोलें और नए कंज़्यूमर को अटरैक्ट करें।
  • नए स्टाफ को हायर करने की जरूरत होती है।
  • कंज्यूमर बढ़ाने के लिए प्रोमोशन करना पड़ेगा।

 

  1. इलाके और क्षेत्र के लिए रिसर्च कर लें

क्षेत्र और इलाके के बारे में जानकारी निकालने पर आपको ये समझ आ जाएगा कि ऐसी क्या चीज़ या फैसिलिटी या ऑफर है जो सिर्फ आपका पार्लर प्रोवाइड करा सकता है बाकि नहीं कर पा रहे, जैसे ऑफर्स, ज्यादा से ज्यादा सर्विसेज इत्यादि। रिसर्च करते वक़्त इन कुछ बातों का ध्यान रखें – 

  • इस बात की रिसर्च करें कि आपके क्षेत्र में किस आयु वर्ग के लोग ज्यादा रहते हैं। जैसे कि जिस एरिया में छोटी आयु के विद्यार्थी, वर्किंग प्रोफेशनल्स, युवा कॉलेज स्टूडेंट्स ज्यादा होंगे उस एरिया में पार्लर की डिमांड भी ज्यादा होगी क्यूंकि इस आयु वर्ग में लोगों को अपने आपको मेन्टेन करके रखना अच्छा लगता है।
  • अपने इलाके की आर्थिक स्थिति के बारे में पता करें। अगर आपके इलाके के लोगों आर्थिक स्थिति नीचे हैं तो आपको अपने पार्लर पार्लर के रेट भी उसी के लेवल पर कम रखना होगा और अगर आर्थिक स्थिति अच्छी है तो आप उसी तरह से रेट रख सकते हैं।
  • ध्यान रखें कि आपके एरिया में कितने लेसिज पार्लर है। जितने ज्यादा पार्लर आपके चुने हुए इलाके में होंगे आपके लिए उतनी ही कठिनाई होगी और ग्राहक बढ़ाने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ेगी।
  • आस-पास के लेडीज ब्यूटी पार्लर बिज़नेस आपको ये अंदाज़ा दे सकते हैं कि वो एरिया बिज़नेस शुरू करने के लिए फायदेमंद होगा या नहीं। जैसे कि अगर कोई बड़ा ब्रांड आपके चुने हुए एरिया में अपना बिज़नेस चला रहा है इसका मतलब है कि उस ब्रांड ने भी काफी रिसर्च किया होगा और उसके बाद ही अपना बिज़नेस शुरू किया होगा। मतलब वो एरिया आपके लिए भी फायदेमंद हो सकता है।
  • ये भी पता करें कि क्या आपके द्वारा चुने हुए एरिया में कोई और भी पार्लर की दुकान थी जो कि हाल ही के समय में बंद हुई हो। अगर हाँ, तो क्या कारण था जिसकी वजह से बंद हुई इसका पता लगाएँ। क्या पता कुछ फायदा नहीं हुआ होगा और उसी कारण हटाई हो।

पूंजी और इनफ्रास्ट्रक्चर

पूंजी (इनवेस्टमेंट)

लेडीज ब्यूटी पार्लर बिज़नेस शुरू करने से पहले आपको यह निर्णय लेना होगा कि आप किस लेवल पर पार्लर खोलना चाह रहे हैं। यानि कौनसे एरिया में खोलना चाह रहे हैं, कितने नंबर ऑफ़ स्टाफ हायर कर रहे हैं, कौन-कौनसी फैसिलिटीज दे रहे हैं, कितना इक्यूपमेंट लगा रहे हैं और कितना बड़ा पार्लर खोलना चाह रहे हैं। ये सारी चीज़ें आपके बजट को डिसाइड करेंगी कि कितना इन्वेस्टमेंट आपको पार्लर के लिए चाहिए होगा।

इसके अलावा आपके शॉप के एरिया की बात की जाये तो कम से कम 100 से 1000 स्क्वेयर फिट का एरिया किसी भी पार्लर को खोलने के लिए जरुरी है। इस एरिया के बराबर शॉप लेने पर उसका प्राइस आपके एरिया के इकनोमिक स्टेटस पर ही निर्भर करेगा। जैसे अगर आप 500 स्क्वेयर फिट का पार्लर खोलते हैं और अगर आपका एरिया काफी महंगा है तो आपको ज्यादा रेंटल चार्ज लगेंगे और अगर सस्ता है तो कम चार्ज लगेंगे। आप अपने एरिया में पार्लर लेने के लिए नीचे दिए गए साइट्स से रेट पता कर सकते हैं।

इनवेस्टमेंट के लिए आप इन 3 तरीकों में से किसी भी एक को चयन कर सकते है –

Is image mein bataya gaya hai ke kon se tarikon se aap ek nayi pharmacy kholne ke liye investment kar sakte hain

पर्सनल इन्वेस्टमेंट – पर्सनल इन्वेस्टमेंट यानि अपने ही पैसों को अपने शॉप के लिए इन्वेस्ट करना सबसे अच्छा विकल्प होता है। कारण इससे आपको लोन लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी जो कि आपको फ्यूचर में वापिस देना पड़ता है। इसके अलावा अगर फ्यूचर में किसी और से इन्वेस्टमेंट करनी पड़ जाये तो आपकी खुद से की गयी इन्वेस्टमेंट आपके इन्वेस्टर के लिए एक ट्रस्ट पॉइंट बन जायेगा कि आप अपने बिज़नेस के बारे में सीरियस हैं।

एंजेल इन्वेस्टर– एंजेल इन्वेस्टर्स वो लोग होते हैं जो काफी अमीर होते हैं और वो छोटे बिजनेसमैन में डायरेक्टली इन्वेस्ट करते हैं। इन इन्वेस्टर्स को सामान्यतः काफी अनुभवी होते है और आपके मेडिकल स्टोर बिज़नेस को बढ़ाने में वो आपकी काफी मदद कर सकते हैं। एंजेल इन्वेस्टर्स को आप इंटरनेट पर अपने स्टेट के अनुसार ढूंढ सकते हैं।

ध्यान रखें कि इन इन्वेस्टर्स तक पहुँचने से पहले अपने शॉप को खोलने के लिए पूरा प्लान तैयार रखें और एक डॉक्यूमेंट बना लें जो आप उन्हें समझा सकें।

बैंक लॉन – बैंक लॉन किसी भी छोटे या बड़े बिज़नेस के लिए काफी इम्पोर्टेन्ट रोल निभाता है। अगर आपके पास अपना खुद का इन्वेस्टमेंट नहीं है तो आप बैंक से लोन सैंक्शन करवा सकते हैं। बैंक से लोन सैंक्शन करवाने के लिए आपको कुछ चीज़ों की रिक्वायरमेंट्स होंगी जैसे –

  • आपकी आयु 21-65 साल की होनी चाहिए।
  • आपको एक प्रॉफिट मार्जिन दिखानी होगी जो बैंक को ट्रस्ट प्रोवाइड करेगा। प्रॉफिट कम से कम डेढ़ लाख रुपए होनी चाहिए।
  • एक प्रॉपर बिज़नेस प्लान दिखाना होगा जो कि लोन प्रोवाइडर को आपके बिज़नेस के बारे में पूरी जानकारी दे सके।

फाइनेंस में एक और काफी इम्पोर्टेन्ट फैक्टर होता है आपके शॉप की इन्शोरेंस का. भारत में लोग इन्शोरेंस पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं जबकि आपको कभी किसी भी नुक्सान जैसे चोरी या कोई एक्सीडेंट से बचने के लिए शॉप की इन्शोरेंस करवाना काफी जरुरी है। इसके लिए भी आपको किसी इन्शोरेंस कंपनी से कांटेक्ट करना होगा। ज्यादा जानकारी के लिए आप यहाँ क्लिक करें।

इनफ्रास्ट्रक्चर

अब बात करते है एक पार्लर खोलने में कौन-कौनसे सामान की जरूरत पड़ेगी और उनको खरीदने में कितना खर्चा आयेगा।

फर्नीचर और अन्य सामान
फर्नीचर/अन्य सामान क्वांटिटी प्राइस (रुपए) – लगभग
फ़ुल साइज मिरर 1 3500 – 8500
पार्लर रैक्स 1 5500 – 12,500
पार्लर चेयर 1 2000 – 45,000
शैंपू चेयर 1 4000 – 55,000
ऑटोमैटिक हेयर स्टीमर 1 2000 – 9000
पेडीक्योर फूट स्पा मशीन 1 1500 – 6500
हेयर ड्रायर 1 300 – 3000
हेयर स्ट्रेटनर 1 500 – 3500
हेयर कर्लर 1 500 – 3500
वैक्स हीटर 1 250 – 1200
यूवी स्टेरीलाइजर 1 2500 – 5500
मेकअप ब्रश 1 सेट  300 – 3000
कोम्ब 1 सेट  200 – 1500
कैंची 1 सेट  250 – 1500
ट्रिमर 1 500 – 3000
अन्य 0 – 2000
कुल 23,800 – 1,64,000

 

कॉस्मेटिक
कॉस्मेटिक क्वांटिटी (लगभग) प्राइस (रुपए) – लगभग
हेयर शैंपू 1 बोतल  70 – 350
फेस क्रीम और लोशन 1 90 – 1000
एक्टन 1 लीटर  50
हेयर रिमुविंग वैक्स 1 90 – 250
हेयर स्प्रै 1 बोतल  75 – 100
हेयर जेल 1 40 – 600
स्पोंज कॉटन 1 पैक  20 – 30
हैंड टावल 1 50 – 150
सर्जिकल ग्ल्वज 1 पेयर  25 – 50
अन्य 10,000 – 20,000
कुल 10,510 – 22,580

 

बाकी खर्चा
1 बिजली का खर्चा 1000 – 2000
2 रेंट 3000 – 20,000
3 टेलीफोन चार्ज 750 – 1000
4 अन्य खर्चा 1000 – 1500
5 पानी का खर्चा 250 – 300
कुल 6000 – 24,800

 

स्टाफ
स्टाफ नंबर सैलरी (हर व्यक्ति – हर महीने)
ब्यूटीशन 3 6000 – 18,000
हेल्पर 2 5000 – 8,000
मैनेजर (यदि आवश्यक हो तो) 1 15,000 – 20,000
कुल 26,000 – 46,000

 

पूरे बिजनेस का खर्चा 66,310 – 2,57,380

 

नोट: लेडीज ब्यूटी पार्लर खोलने के लिए आपको काफी अलग-अलग तरह के कॉस्मेटिक और ब्यूटी प्रोडक्ट्स की जरुरत पड़ेगी। इसीलिए ये सबसे अच्छा रहेगा कि आप ये सारे प्रोडक्ट्स होलसेल में खरीदें ताकि आपको मार्केट प्राइस से कम में ही प्रोडक्ट्स मिल जाये। होलसेल में ब्यूटी प्रोडक्ट्स लेने के लिए आप अपने एरिया के किसी भी होलसेल दूकान पर जा सकते हैं या फिर इंडिया मार्ट की वेबसाइट से भी कोट्स पता कर सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

कानूनी प्रक्रियाएं

भारत में किसी भी बिज़नेस यानि कोई शॉप खोलने के लिए आपको कई सारे रजिस्ट्रेशन प्रोसेस से गुजरना पड़ता है। अगर ब्यूटी पार्लर बिज़नेस की बात की जाये तो आपको पहले तो अपने बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन करवाना होगा और एक टैक्स रजिस्ट्रेशन भी करवाना होगा। आगे विस्तार से जानते हैं कि ये दोनों रजिस्ट्रेशन क्या हैं और कैसे पाया जा सकता है।

शॉप का रजिस्ट्रेशन

अगर आप अपने राज्य में कोई दुकान या बिज़नेस शुरू करते हैं तो आपको राज्य सरकार के लेबर डिपार्टमेंट में शॉप इस्टैब्लिशमेंट एक्ट के अंडर शॉप का रजिस्ट्रेशन करना होगा। यह पंजीकरण ऑनलाइन किया जा सकता है और रजिस्ट्रेशन के लिए आपको उस राज्य के संबंधित लेबर डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर जाकर शॉप रजिस्ट्रेशन करना होगा।

रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ इन्फोर्मेशन की जरूरत होती है जैसे –

  1. शॉप का नाम
  2. शॉप का पता
  3. मैनेजर का नाम
  4. किस तरह की शॉप है, जैसे – इलेक्ट्रिसिटी, ब्यूटी पार्लर इत्यादि।
  5. कितने एम्प्लोयी काम करेंगे।

रजिस्ट्रेशन के लिए ये डाक्यूमेंट्स लगेंगे

  1. पैन कार्ड / आधार कार्ड / ड्राइविंग लाइसेन्स / वोटर आईडी
  2. मालिक का फोटो
  3. रेंट एग्रीमेंट, यदि रेंट पर लिया है तो
  4. बिजली बिल

टैक्स रजिस्ट्रेशन

ब्यूटी पार्लर बिज़नेस में टैक्स रजिस्ट्रेशन का मतलब है जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) रजिस्ट्रेशन। भारत में कोई प्रोडक्ट या किसी सामान को बिज़नेस के जरिये बेचने के लिए जीएसटी रेजिस्ट्रेशन्स की जरुरत होती है। वैट रजिस्ट्रेशन स्टेट गवर्नमेंट के अंडर आती है।मतलब अगर आप अपना पार्लर दिल्ली में खोलना चाहते हैं तो आपको दिल्ली वैट रजिस्ट्रेशन की ऑफिसियल साइट पे जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा।

जीएसटी रेजिस्ट्रेशन आप सरकार की आधिकारिक वेबसाइट से भी ले सकते है या फिर किसी प्राइवेट ऑर्गनाइज़ेशन से भी मदद ले सकते है। सरकार द्वारा जीएसटी लेने के लिए यह वेब साइट है – https://www.gst.gov.in/ Iske अलावा प्राइवेट ऑर्गनाइज़ेशन जैसे IndiaFilings पर जाकर भी जीएसटी के लिए पंजीकरण कर सकते है। नीचे दिये गए फोटो से आप देख सकते है कि जीएसटी पंजीकरण के लिए क्या महत्वपूर्ण दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है।

GST registration ke liye important document

मूल स्रोत: इंडिया फाइलिंग

मार्केटिंग कैसे करें

किसी भी बिज़नेस चाहे वो छोटा हो या बड़ा उसे आगे बढ़ने के लिए अच्छी मार्केटिंग करना बहुत ज्यादा जरूरी है। इसके लिए ध्यान रखें कि आपके बिज़नेस के अनुसार ऐसे कौन से मार्केटिंग के तरीके हैं जिससे आप ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपने बिज़नेस को पहुंचा सकते हैं।

अब बात ये है कि आप अपने बाकि कॉम्पिटिटर्स के कंपेरिशन में ऐसा क्या कर रहे हैं जो कि आपके बिजनेस बाकियों से अलग बना रहा है और आपके कस्टमर्स की लिस्ट बढ़ा रहा है। अपने बिज़नेस को आगे बढ़ने के लिए आपको इन 3 बातों का ध्यान रखना होगा – शॉप का प्रचार आपका, अपने कस्टमर्स से बर्ताव और कस्टमर्स के लाभ। तो आईये बात करते हैं इन तीनो तरीकों के बारे में और कैसे आप अपने बिज़नेस को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा सकते हैं।

  • विज्ञापन (प्रचार)

आप अपने दुकान का प्रचार कई माध्यम से कर सकते हैं। कुछ तरीके ऑनलाइन किये जायेंगे तो कुछ ऑफलाइन। बात करते हैं इन सारे तरीकों के बारे में –

ऑनलाइन

गूगल माय बिजनेस – गूगल माय बिज़नेस गूगल की तरफ से एक फ्री टूल है जिससे आप अपने बिज़नेस को गूगल की लिस्टिंग में डाल सकते हैं। इसका फायदा ये है कि जब भी कोई गूगल पर सर्च करेगा कि आस-पास ब्यूटी पार्लर कहाँ है या फिर सीधा आपके नाम से आपकी दुकान ढूंढ़ना चाहेगा तो उसे बहुत आसानी से आपकी शॉप का सारा डिटेल गूगल पर मिल जायेगा।

Google pe kaise dhunde kisi business ko  Google pe kisi business ko kaise dhunde

गूगल माय बिज़नेस आपके शॉप का नाम, शॉप तक पहुँचने का डायरेक्शन, फ़ोन नंबर, रिव्यू, रेटिंग्स, फोटो और डिटेल्स सब कुछ एक ही जगह पर आपके कस्टमर तक पहुंचा देगा। इसके अलावा अगर कोई किसी एरिया में अपने आस-पास ब्यूटी पार्लर की शॉप ढूंढ रहा है और आपका पार्लर उस क्षेत्र के रेंज में आ रहा है तो आपके शॉप का नाम और डिटेल भी गूगल की लिस्ट में आ जायेगा। इससे आसानी से आपकी फार्मेसी को कोई भी ऑनलाइन ढूंढ सकता है।

गूगल माय बिज़नेस में अकाउंट बनाना काफी आसान है। नीचे दिए गए फोटो के स्टेप्स को फॉलो करके आप आसानी से अपना अकाउंट बना सकते हैं –

Janiye kaise banate hain Google My business pe account

गूगल माय बिज़नेस की ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

जस्ट डायल – जस्ट डायल एक ऐसा प्लेटफार्म है जो कि किसी भी क्षेत्र के लोकल बिजनेस की इनफार्मेशन प्रोवाइड कराता है जो कि आपको या तो इंटरनेट के माध्यम से आसानी से पता चल जाता है।

Just dial pe business ko kaise register karein

जस्ट डायल में भी गूगल माय बिज़नेस की तरह आपको अपना बिजनेस रजिस्टर करना होगा। अंतर बस इतना है कि जस्ट डायल में आप दो तरह की लिस्टिंग करा सकते हैं फ्री लिस्टिंग या फिर पेड लिस्टिंग।

रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस काफी सिंपल होता है और ये आप ऑनलाइन उनकी वेबसाइट से करा सकते हैं या फिर आप 8888888888 पर कॉल करके भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जस्ट डायल में फ्री लिस्टिंग करने के लिए यहाँ क्लिक करें जस्ट डायल फ्री लिस्टिंग और पेड लिस्टिंग कराने के लिए यहाँ क्लिक करें – जस्ट डायल पेड लिस्टिंग।

ऑफलाइन

होर्डिंग – लेडीज ब्यूटी पार्लर बिज़नेस ऐसा बिज़नेस है जो कि लोग ज्यादातर ऑफलाइन यानि बिना इंटरनेट के माध्याम से ढूंढ़ते हैं। इसीलिए ये जरुरी है कि आप अपने बिज़नेस का प्रचार होर्डिंग और पेपर मीडिया के माध्यम से भी करें। होर्डिंग को लेकर आपको कुछ इम्पोर्टेन्ट बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे

  • पार्लर खोलने से कुछ दिनों पहले आप अपने शॉप के आगे “ओपनिंग सून” का होर्डिंग जरूर लगा दें। ताकि आते-जाते लोगों को पता रहे कि एक नया ब्यूटी पार्लर शॉप उनके एरिया में खुलने वाला है।
  • आप अपने ब्यूटी पार्लर की होर्डिंग्स हर उस क्षेत्र में लगवा दें जहाँ लोगों की भीड़ हो या जहाँ मार्केट है जैसे मार्केट्स में, कॉलोनीज में, कॉस्मेटिक शॉप्स के आस पास, अपने एरिया के रेजिडेंशियल एरिया के आस पास इत्यादि।

पैम्फलेट – अपने शॉप का प्रचार आप पैम्फलेट के माध्यम से भी कर सकते हैं। इसे या तो आप खुद आने-जाने वाले लोगों को दें या फिर अपने एरिया के लोकल समाचार पत्र देने वाले को कुछ पैसे देकर भी घर घर तक पहुंचा सकते हैं।

येलो पेज – येलो पेज एक डायरेक्टरी है जिसमें आपके शहर के हर एरिया के छोटे से लेकर बड़े बिजनेस के नंबर्स और एड्रेस होते हैं। येलो पेज में रजिस्टर करने और ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

  • बर्ताव 

एक काफी जाना माना कहावत है –

ऐसी बानी बोलिए, मन का आपा खोय |

औरन को शीतल करै, आपहु शीतल होय ||

कहने का मतलब है यह है कि लोगों से इस तरह से बात करें कि औरों के साथ-साथ आपको भी ख़ुशी मिले। आपके बर्ताव का लोगों के मन पर काफी असर पड़ता है। अगर एक कोई आपसे बुरी तरह से बात करे और एक कोई आप से प्रेम से बात करे तो ये पक्का है कि आपको अच्छे से बात करने वाले ही लोग काम आएंगे।

उसी तरह अगर आप अपने कस्टमर से प्रेम से बात करेंगे और उन्हें बेहतरीन सर्विस प्रोवाइड करेंगे तो लोग आपके शॉप में बार-बार आएंगे।

  • कस्टमर को बेनिफ़िट 

आप जितना ज्यादा अपने कस्टमर का ध्यान रखेंगे आपका बिजनेस उतना ही ज्यादा लोगों के बीच मशहूर होगा। इसलिए कस्टमर से जुड़ी इन कुछ बातों का पूरा ध्यान रखना चाहिए –

  • अपने कस्टमर को आसान सर्विस प्रोवाइड करने की कोशिश करें। जितनी आसानी से और कम समय में आपकी शॉप से लोग सर्विस ले पाएंगे उतना ही ज्यादा लोग आपकी शॉप पर आना पसंद करेंगे।
  • दूसरे लेडीज ब्यूटी पार्लर के मुक़ाबले में ध्यान रखें कि ऐसी कौन सी सर्विसे या प्रोडक्ट्स हैं जो कि आप लोगों को दे सकते हैं। जैसे सप्ताह में किसी दिन अपनी सर्विस को घर पर भी जाकर देना, ऑफर्स और डिस्कोउन्ट देना, ब्यूटी प्रोडक्ट्स भी रखें इत्यादि।
  • जब भी कोई कस्टमर आपके शॉप पर आये उसका आदर करें। कई बार कस्टमर्स आपके शॉप पर आता है और उसे कोई अटेंड करने वाला नहीं होता, ऐसे में कुछ कस्टमर आपका व्यवहार पसंद नहीं करते हैं और वापिस आपकी शॉप पर आना पसंद नहीं करते हैं।
  • कोशिश करें कि बाकियों के मुक़ाबले में आप अपने कस्टमर्स को ज्यादा से ज्यादा और अच्छे डिस्कोउन्ट, ऑफर करने की कोशिश करें। अगर आपके ऑफर्स अच्छे होंगे तो लोग आपकी शॉप पर आना ज्यादा पसंद करेंगे।

इसके अलावा जब भी आप ऑफर या डिस्काउंट दें तो उसका विज्ञापन जरूर करें। विज्ञापन करने के लिए आप अपने ब्यूटी पार्लर के बाहर बोर्ड लगा सकते हैं और अपने हर कस्टमर्स को भी बताएं कि आप अपनी दवाइयों पर ऑफर दे रहे हैं। इससे आपके कस्टमर्स और भी लोगों को ऑफर के बारे में बताएँगे और आपका अपने आप ही प्रचार हो जायेगा।

  • डिस्काउंट ऑफर्स के अलावा आप कुछ अमाउंट खर्च करने पर कूपन भी प्रोवाइड करा सकते हैं। उससे कूपन के लिए लोग उतनी सर्विस लेने की सोचेंगे और आपका सेल पहले से बेहतर हो जायेगा।
  • एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात है पेमेंट का तरीका। आज का दौर डिजिटाइजेशन की और बढ़ रहा है। ऐसे में कोशिश करें कि आपके कस्टमर को पेमेंट करने में कोई दिक्कत न आयें। कार्ड पेमेंट से लेकर ऑनलाइन जितने भी माध्यम हैं उन्हें अपनी शॉप में उपलब्ध रखें ताकि लोग आसानी से किसी भी मोड में पेमेंट कर सकें।

हमें उम्मीद है कि इस बिज़नेस प्लान से आपको समझ आ गया होगा कि कैसे आप एक ब्यूटी पार्लर बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। अगर आपके मन में इसके अलावा और भी कोई सवाल है तो कमेंट करके हमसे जरूर पूछें।

यदि आप मेडिकल स्टोर खोलने के बारे में सोच रहे है तो इस आर्टिकल को पढ़ें – मेडिकल स्टोर का बिजनेस प्लान

जन्म से ही क्रिकेट का दीवाना हूँ लेकिन क्रिकेटर बन नहीं सका और अब विकिपीडियन बनकर खिलाड़ियों पर लिखना शौक बना दिया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here