टेलरिंग बिजनेस शुरू करने की पूरी जानकारी

tailoring_business

टेलरिंग बिज़नेस यानि सिलाई का काम एक ऐसा बिज़नेस है जिसमें काफी कम लगत और बिना किसी मुश्किल के आसानी से काम शुरू किआ जा सकता है। अगर आपको कपड़े सिलाई करने का ज्ञान है तो आप भी टेलरिंग बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको न तो ज्यादा क़ानूनी प्रक्रिया से होकर गुजरना होता है और न ही ज्यादा इन्वेस्टमेंट चाहिए।

तो आईये इस आर्टिकल से जानते हैं कि किन जरुरी चीज़ों और लागत के साथ आप भी अपना टेलरिंग बिज़नेस शुरू कर सकते हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे कि…

टेलरिंग बिजनेस कौन शुरू कर सकते है

कौनसा कोर्स कर सकते है 

टेलरिंग बिजनेस की जरूरतें और लागत 

लोकेल्टी और एरिया के लिए रिसर्च करें 

अपने बिजनेस की मार्केटिंग कैसे करें

टेलरिंग बिजनेस में मुनाफा कितना होता है

टेलरिंग बिजनेस कौन शुरू कर सकते है

अगर आप उन लोगों में से हैं जो कम लागत में एक ऐसा बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं जिसे शुरू करने में ज्यादा दिक्कत न आए और कमाई भी अच्छी हो तो आप भी एक टेलरिंग का बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। टेलरिंग बिज़नेस यानि सिलाई की एक छोटी सी दुकान खोलने के लिए जो सबसे ज्यादा जरुरी है वो है आपका इस बिज़नेस में हुनर।

टेलरिंग एक ऐसा काम है जो कि आप अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं या एक छोटे से कमरे से भी शुरू कर सकते हैं। अगर आपको सिलाई कटाई और फैशन का थोड़ा भी ज्ञान है तो आप भी एक टेलरिंग बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। अब बात आती है कि कैसे आप अपने आप को इस बिज़नेस के लिए तैयार कर सकते हैं। तो आईये जानते हैं कि कैसे आप अपने सिलाई कटाई के स्किल को और आगे बढ़ा सकते हैं।

कौनसा कोर्स कर सकते है

टेलरिंग के बिज़नेस के लिए वैसे तो आपको किसी योग्यता की जरुरत नहीं है बस आपको ये काम आना चाहिए, मगर एक अच्छा टेलर बनने के लिए अगर आप सिलाई कटाई का कोर्स कर लेते हैं तो ये आपको काफी फायदा देगा। एक अच्छा टेलरिंग का बिज़नेस आप तभी चला सकते हैं जब आपके हाथ में कपड़े सिलने की कलाकारी हो।

टेलरिंग में कोर्स

अगर आप 8वीं, 10वीं या 12वीं पास हैं और कपड़े सिलाई और कटाई में इंटरेस्ट रखते हैं तो आप भी टेलरिंग कोर्स कर सकते हैं। कभी कभार आपसे ग्रेजुएशन भी माँगा जा सकता है मगर वो तभी होगा जब आप टेलरिंग के साथ-साथ फैशन डिजाइनिंग भी सीखना चाहेंगे।

टेलरिंग में कोर्स आपको टेलरिंग और स्टिचिंग से जुड़ी पूरी जानकारी देता है। इस कोर्स में आपको पूरी ट्रेनिंग दी जाती है कि टेलरिंग में क्या-क्या किया जाता है, सिलाई कैसे की जाती है, कपड़ों का नाप कैसे लिया जाता है और बाकि हर वो चीज़ जिससे आप एक अच्छा टेलर बन सकते हैं।

ये कोर्स आप अपने लोकैलिटी के किसी भी ट्रेनिंग सेंटर से ले सकते हैं। अगर आपको ऑनलाइन सर्च करना आता है तो आप अपने फ़ोन से सर्च करके अपने एरिया के लोकल ट्रेनिंग सेंटर का पता कर सकते हैं और वहां एडमिशन ले सकते हैं।

मान लीजिये कि आप दिल्ली में रहते है और किसी लोकल ट्रेनर से टेलरिंग सिखाना चाहते है तो जस्टडायल से नंबर पता कर सकते है। ज्यादा जानकारी के लिए आप यहाँ क्लिक करें टेलरिंग क्लास दिल्ली में

कोर्स की अवधि: टेलरिंग में डिप्लोमा कोर्स 3 महीने से लेकर 2 साल तक किया जा सकता है। ये कोर्स हर इंस्टिट्यूट में अलग-अलग अवधि के लिए होता है। अगर आप सिंपल स्टिचिंग का कोर्स करना चाहते हैं तो आप 3 महीने से लेकर 6 महीने का कोर्स कर सकते हैं और अगर आप स्टिचिंग के अलावा फैशन और डिजाइनिंग के बारे में भी सीखना चाहते हैं तो ये कोर्स 2 साल तक का होगा।

फीस: इन कोर्स की फीस हर इंस्टिट्यूट की अलग-अलग होती है। कोर्स के अनुसार भी फीस अलग-अलग होती है। ज्यादातर फीस काफी कम ही होती है। खादी ग्रामोद्योग में ये फीस 100 रुपए के प्रॉस्पेक्टस के अलावा 100 रुपए/महिना होती है। अगर यही ट्रेनिंग सरकार द्वारा दी जाती है तो कई बार महिलाओं निःशक्तजन, अनुसूचित जाति वालों के लिए फीस माफ़ भी होती है।

देखा जाये तो किसी प्राइवेट इंस्टिट्यूट से ट्रेनिंग लेने पर आपकी फीस 1000/- से लेकर 15,000/- तक जा सकती है। ये एक अनुमान है जब आप खुद किसी ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट पर जायेंगे और फीस पता करेंगे तभी आपको कोर्स के अनुसार फीस की जानकारी मिल पायेगी।

टेलरिंग में ट्रेनिंग

अगर आपको टेलरिंग में कोर्स करने में कोई भी दिक्कत है तो भी आप एक अच्छा टेलर बन सकते हैं। इसके लिए आप अपने एरिया के किसी भी टेलरिंग की दुकान में कुछ दिन के लिए नौकरी करके सिलाई का काम सीख सकते हैं।

इसके अलावा कई सारे प्राइवेट इंस्टीटूट्स या ऐसे टेलर्स होते हैं जो कुछ फीस लेकर आपको ट्रेनिंग देते हैं। इससे आप एक पहले बने प्रोफेशनल टेलर के अंदर काम करके टेलरिंग सीख सकते हैं।

टेलरिंग बिजनेस की जरूरतें और लागत

टेलरिंग बिज़नेस शुरू करने में आपको इन कुछ चीज़ों की जरुरत होती है जो कि आपका काम शुरू करने के लिए अनिवार्य हैं –

  • एक कमरा – टेलरिंग या स्टिचिंग के बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले जरुरत होगी एक कमरे की जहाँ बैठकर आप अपना काम कर सकें। आप चाहे तो एक कमरा अपने घर में ही यूज कर लें और अपनी दूकान वहीं से चला सकते हैं। इसमें आपका फायदा ये होगा कि आपको टेलरिंग के सामान के अलावा और कोई खर्चा नहीं देना होगा जैसे भाड़ा, मेंटेनेंस इत्यादि।

और यही कमरा आप रेंट पर किसी मार्केट एरिया में या किसी लोकैलिटी में भी ले सकते हैं। अगर आप रेंट पर कमरा लेते है तो आपको कमरे का रेंट और मेंटेनेंस भी देना होगा जो आपके खर्चे में जुड़ जायेगा। ये रेंट आपके कमरे का एरिया और कमरे के साइज पर निर्भर करता है जो कि कम से कम 3000 रुपए या ज्यादा से ज्यादा आपके जरुरत के अनुसार हो सकता है।

  1. एक सिलाई मशीन – अगर आपने अपना बिज़नेस बिलकुल नया शुरू किया है तो आपको सुझाव है कि पहले आप अकेले ही इस बिज़नेस को आगे बढ़ाएँ। इसके लिए आपको एक सिलाई मशीन की जरुरत होगी। वैसे तो शुरुआत में आप एक सिलाई मशीन से ही काम शुरू कर सकते हैं जो कि पिक्को के लिए भी उपयोग की जा सकती है, मगर बाद में एक पिक्को मशीन और एक इंटरलॉक मशीन की जरुरत पड़ेगी।

एक सिंपल मगर अच्छी सिलाई मशीन लेने में करीब 2000 तक की लगत आ जायेगी। ये लागत कम या ज्यादा भी हो सकती है। लेकिन अगर आपके पास 2000 तक की पूंजी है तो आप बड़े आसानी से एक सिलाई मशीन ले सकते हैं। सिलाई मशीन के साथ-साथ आपको सिलाई मशीन का स्टैंड भी लेना होगा जो कि टेलरिंग का बिज़नेस शुरू करने के लिए काफी जरुरी है। ये स्टैंड करीब 2500 से लेकर 3000 तक आएगा। आपको फिर बता दें कि ये प्राइस हमने रिसर्च करके निकाला है इसलिए ऐसा भी हो सकता है कि आपके एरिया में सिलाई मशीन और स्टैंड दोनों का दाम दिए गए प्राइस से कम या ज्यादा हो।

सामाननंबरप्राइस
सिलाई मशीन1रुपए 2000/- (लगभग)
सिलाई मशीन की टेबल1रुपए 2500/- 3000 ( लगभग )

ये सिलाई मशीन आपको अपने एरिया के किसी भी मशीन की दूकान पर मिल जाएगी। अगर आप सिलाई मशीन के थोक विक्रेता से ये मशीन खरीदते हैं तो आपको नॉर्मल मार्केट प्राइस से कम में ही ये मशीन मिल जानी चाहिए।

ध्यान दें: आजकल मार्केट में अलग-अलग तरह की सिलाई मशीन आ गयी हैं, लेकिन टेलरिंग के लिए लोहे की सिलाई मशीन ही सबसे बेस्ट ऑप्शन होता है। जब आपके पास काफी मात्रा में कपड़े सिलने के लिए ऑर्डर आने लगेंगे तब आपको एक अच्छा और मजबूत सिलाई मशीन चाहिए होगा। नीचे हमने फोटो में दिखाया है कि कैसी सिलाई मशीन एक टेलरिंग शॉप के लिए सबसे अच्छी रहेगी।

Silai machine
  1. सिलाई की चीजें – इसके अलावा हमें सिलाई के लिए और भी कुछ चीजों की जरूरत होती है जैसे –
सामाननंबरप्राइस (लगभग)
इंची टेप2रुपए 60 – 120
कैंची2रुपए 150 – 200
टेलर चौक2रुपए 10 – 100
बुकरम रुपए 10-15 / मीटर
सुई और धागे रुपए 5 – 10 / पीस
स्केल1रुपए 20 – 100/ पीस
नोटबुक और पेन1रुपए 20 – 40 / पीस
प्रेस1रुपए 300 – 800 / पीस
  1. फर्नीचर

टेलरिंग बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको टेबल की जरुरत होगी जो कि कपड़े को काटते वक़्त काम आता है। ये टेबल लकड़ी का हो सकता है जिसको आप एक कपड़े से कवर कर देते हैं। इसके अलावा आपको कम से कम दो कुर्सी रखना होगा जिसमें से एक आप अपनी सिलाई के लिए उपयोग करेंगे और एक किसी कस्टमर के लिए रख सकते हैं।

इसके अलावा आप चाहे तो अपने शॉप में एक रैक भी लगवा सकते हैं जिसमें आप सिलाई किये हुए कपड़ों को रख सकते हैं, ताकि वो गंदे या ख़राब न हो जाये। तो देखा जाये तो फर्नीचर में इन चीज़ों के अलावा आपको और किसी चीज़ की खास जरूरत नहीं पड़ेगी।

फर्नीचरकितनेप्राइस (लगभग)
टेबल1800/पीस
कुर्सी या स्टूल2100-250/पीस
रैक11000/पीस

इसके अलावा आपको एक नया टेलरिंग बिज़नेस शुरू करने में किसी और चीज़ की खास जरुरत नहीं पड़ेगी। तो कुल मिलकर देखा जाये तो घर से ही एक टेलरिंग बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपकी लागत लग सकती है –

पूरी लागतरुपए 7500-9000 (लगभग)

और अगर यही बिज़नेस आप किसी शॉप को रेंट पर लेकर शुरू करते हैं तो इसमें कम से कम 3000 और ज्यादा से ज्यादा जैसा आपके एरिया का रेंट है उतना खर्चा आ जायेगा।

लोकैलिटी और एरिया के लिए रिसर्च करें

टेलरिंग यानि सिलाई कटाई का बिज़नेस काफी सरल बिज़नेस है और इसमें जो सबसे ज्यादा जरुरी चीज़ है वो है आपके हाथ की सफाई। यानि आपकी सिलाई कितनी अच्छी है और आप समय पर अपने कस्टमर्स को कपड़े सील कर दे देते हैं या नहीं। वैसे तो इस बिज़नेस में काम की कमी नहीं आनी चाहिए, मगर फिर भी अपनी शॉप कहाँ शुरू करें उसके लिए इन कुछ बातों का ध्यान रखें।

  • कोशिश करें कि अपनी शॉप आप ऐसे एरिया में खोलें जहाँ घर ज्यादा हो। टेलरिंग की ज्यादा जरुरत लेडीज को होती है तो जिस एरिया में घर ज्यादा होंगे वहां महिलाओं से आपको ज्यादा काम मिलेगा।
  • आपका काम अच्छा है मगर आप एक नयी दुकान खोल रहे हैं, तो अपनी दूकान को किसी ऐसे एरिया में खोलें जहाँ आपके प्रतिद्वंदी कम हो। कोशिश करें कि पहले आप अपने शॉप को अच्छे से चला लें।
  • अगर आप अपनी शॉप किसी कपड़े की दुकान के आस-पास खोलेंगे तो भी आपकी दूकान पर ज्यादा काम आने के मौके हैं। लोग कपड़े खरीदने के बाद सिलाई के लिए सबसे नजदीक में जो भी अच्छी शॉप दिखती है वहीं जाते हैं।
  • ये भी पता करें कि क्या आपके चुने हुए एरिया में कोई और भी टेलर की शॉप थी जो की हाल ही में बंद हो गयी हो। अगर हाँ, तो क्या कारण था जिसकी वजह से वो दूकान बंद हुई। क्या पता वो कारण आपकी दूकान को नुकसान से बचा दे।

अपने बिजनेस की मार्केटिंग कैसे करें

एक टेलरिंग का बिज़नेस बहुत ही छोटे स्तर पर शुरू किया जा सकता है, इसलिए अपनी दुकान का प्रचार आपको खुद ही करना होगा। धीरे-धीरे जैसे ही आपका काम आगे बढ़ जायेगा, आपके शॉप की जानकारी लोगों को खुद ही हो जाएगी। लेकिन तब तक आप इन कुछ तरीकों से शॉप की मार्केटिंग कर सकते हैं।

  1. नई दुकान को खोलने से कुछ दिन पहले ही अपने शॉप के बाहर एक बोर्ड लगवा दें कि यहाँ एक टेलर का शॉप खुलने वाला है। इससे आते-जाते लोगों को एक खबर हो जाती है कि एरिया में ये दुकान शुरू होने वाली है।
  2. शुरुआत में अपनी सिलाई का रेट बाकि जगहों से कम रखें। जहाँ भी कम दाम में अच्छा काम मिलेगा लोग वहां ज्यादा आएंगे। बाद में जब आपके पास काम बढ़ जाये तो आप अपना रेट थोड़ा बढ़ा सकते हैं।
  3. एक सिंपल सा कार्ड भी बनवा के रख लें जिसपर आपकी दुकान का नाम, फ़ोन नंबर और एड्रेस लिखा हो। इस कार्ड को आप अपने आसपास के सभी कपड़ों की दुकान में दे आयें ताकि जब भी कोई कपड़ा खरीदने आए तो दुकानदार आपके कार्ड को उसे दे दें जिससे उस व्यक्ति को आपके शॉप की जानकारी हो जाएगी।
  4. ज्यादा से ज्यादा नए डिजाइन और फैशन के ट्रेंड्स का ध्यान रखें। लोगों को आकर्षित करने का ये एक काफी अच्छा तरीका है।
  5. जो भी आपने बनाया है उसमें से कुछ सामान डिस्प्ले में रखें यानि ऐसे रखें कि आते जाते लोग उसे देख सकें। इससे लोगों का आपके शॉप की तरफ रुझान ज्यादा बनता है।

टेलरिंग बिजनेस में मुनाफा कितना होता है

टेलरिंग बिज़नेस में जो भी लागत लगती है वो दूकान शुरू करने में लगती है। उसके बाद सबसे ज्यादा जरुरी है आपकी मेहनत। आप कितने समय में कितने कपड़े सील लेते हैं, वही आपके लिए मुनाफे का काम करेगा।

क्यूंकि इसमें आपको इन्वेस्टमेंट बस सिलाई के छोटे-छोटे सामानों के लिए लगाना होता है, तो आपका मुनाफा वही होगा जो आप अपने मेहनत के लिए कमाते हैं। अंदाज़ा लगाया जाये तो एक महीने में एक सिलाई मशीन से आप 5 से 10 हज़ार रुपये तक कमा सकते हैं। ये कमाई आपके हुनर के अनुसार और किसी त्यौहार के दौरान और भी बढ़ सकती है। इसीलिए अपनी कला को और उभारें ताकि लोग आपसे ही अपने कपड़े सिलवाने आयें।

इनके अलावा कुछ और भी टिप्स हैं जिससे आप अपना काम कामयाब बना सकते हैं –

  1. शुरुआत में आप अपने सिलाई का दाम कम रखें। इससे ग्राहक आपके शॉप पर ही अपना कपड़ा देना चाहेंगे। ग्राहक बनाना आपके बिज़नेस के लिए बहुत जरुरी है तो अगर शुरुआत में ज्यादा कमाई न भी हो तो भी ज्यादा ध्यान ग्राहक बनाने में ही रखें।
  2. कभी भी उतना काम न ले लें कि आप टाइम पर ग्राहक को कपड़े वापिस न कर पाएं। हर कोई नए कपड़े को लेने के लिए उत्साहित होता है और जब आप उसे टाइम पर कपड़े नहीं दे पाते हैं तो उससे ग्राहक के दिमाग पर एक गलत इम्प्रैशन पड़ता है और ग्राहक को नाराज़ करना आपके लिए सही नहीं रहेगा।
  3. शुरुआत में आप अकेले ही काम शुरू करें। मगर बाद में जैसे-जैसे काम बढ़ने लगे तो कोशिश करें कि एक कर्मचारी आप अपने साथ रख लें ताकि काम में आपकी मदद हो सकें।
  4. त्यौहार के वक़्त तो एक कर्मचारी का आपके साथ होना जरुरी है। ये वो समय होता है जब काफी लोग नए कपड़े सिलवाते हैं। इस समय आपका काम बढ़ेगा और मुनाफा कमाने का ये अच्छा टाइम होता है।
  5. अगर आप एक महिला हैं जिन्होंने अपना टेलरिंग का काम शुरू किया है तो कोशिश करें कि अपने साथ आप एक पुरुष हेल्पर को रखें ताकि कोई पुरुष आपके यहाँ काम देने आए तो उसे कोई झिझक न हो। उसी तरह अगर आप पुरुष हैं तो एक महिला हेल्पर का रखना आपके लिए फायदेमंद होगा।

इस आर्टिकल में हमने पूरी कोशिश की है कि आपको हर वो बात बताएं जो टेलरिंग बिज़नेस शुरू करने के लिए जरुरी है। हमें उम्मीद है कि आपको पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपको इस बिज़नेस से जुड़ी और भी कोई जानकारी चाहिए तो नीचे कमेंट में हमसे जरूर पूछें, हम आपकी पूरी मदद करेंगे।

जन्म से ही क्रिकेट का दीवाना हूँ लेकिन क्रिकेटर बन नहीं सका और अब विकिपीडियन बनकर खिलाड़ियों पर लिखना शौक बना दिया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here