करियर

स्विग्गी फूड डिलीवरी जॉब: अप्लाई करके बनें डिलिवरी पार्टनर

यदि आप भी स्विग्गी फूड डिलिवरी जॉब करना चाहते है तो पहले आपको कुछ बातों के बारे में जानकारी होनी चाहिए जैसे स्विग्गी डिलीवरी जॉब की सैलरी, स्विग्गी पार्ट टाइम जॉब और उनका वेतन, प्रोत्साहन (इन्सेंटिव), शिफ्ट और काम का समय इत्यादि। तो चलिये सब विस्तार से जानते है।

नीचे कुछ पॉइंट है जिससे यह पता चलेगा कि आप स्विग्गी फूड डिलिवरी जॉब के लिए योग्य है या नहीं:

  • आपके पास बाइक होनी चाहिए
  • एक आइडेंटिटी कार्ड
  • 5 से 10 घंटे रोजाना
  • बेसिक अंग्रेजी का ज्ञान

यदि ये सब योग्यताएँ आपके पास है या इसमें आप फिट बैठते है तो आप आसानी से स्विग्गी फूड डिलीवरी जॉब कर सकते है।

यदि आप दिल्ली/राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से है तो नीचे बटन पर क्लिक करके अभी अप्लाई करें।

डिलीवरी पार्टनर के रूप में स्विग्गी से जुड़ने के 5 मुख्य कारण

यदि आप स्विग्गी जॉइन करते है डिलिवरी एक्सिक्यूटिव के तौर पर, तो आप स्विग्गी के कर्मचारी (इम्प्लोई) नहीं होंगे बल्कि आप स्विग्गी के पार्टनर कहे जाएँगे। इसका मतलब यह हुआ कि आप अपने खुद के बॉस है और अपने अनुसार काम कर सकते है।

  1. काम और समय की फ़्लेक्सिबिलिटी

स्विग्गी जॉइन करें:

  • स्विग्गी फुल टाइम जॉब
  • स्विग्गी पार्ट टाइम जॉब
  • स्विग्गी टेम्पररी जॉब

स्विग्गी, स्थान और साथ ही काम करने की शिफ्ट का चयन करने की भी स्वतंत्रता प्रदान करता है। दिन या रात की शिफ्ट के बीच चयन करने का भी विकल्प है।

क्लिक करके जानिए शिफ्ट टाइमिंग के बारे में

2. न्यूनतम आय की गारंटी। जितना कमा सको कमाओ।

3 प्रमुख कारणों से स्विग्गी फूड डिलीवरी जॉब में अच्छी इन्कम मिलती है:

  • साप्ताहिक सैलरी मिलना: ये वेतन सप्ताह के हिसाब से करते है।
  • कितना भी काम करो: इसका मतलब जितना कमा सको उतना कमाओ।
  • प्रति दिन न्यूनतम आय की गारंटी।

क्लिक करके जानिए सैलरी के बारे में

3. कोई क्वालिफ़िकेशन नहीं

सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें कोई भी जॉइन कर सकता है। स्विग्गी डिलिवरी पार्टनर बनने के लिए किसी भी प्रकार की क्वालिफ़िकेशन की जरूरत नहीं है। सिर्फ आपको बेसिक अंग्रेजी और हिन्दी बोलनी आनी चाहिए।

क्लिक करके जानिए अप्लाई करने के प्रोसेस के बारे में

4. हाथों हाथ जुड़ें

स्विग्गी में डिलिवरी बॉय के रूम में जॉइन होने का प्रोसेस बहुत सरल है और सिर्फ 5-6 घंटे ही लगते है। सबसे पहले आपको स्विग्गी के रिक्रूटमेंट सेंटर में पहुँचना है जरूरी दस्तावेजों के साथ और हाथों हाथ जॉइन हो जाते है और अगले दिन से काम पर लग सकते है। यहाँ कोई इंटरव्यू नहीं होता है। ये सिर्फ दस्तावेजों को वेरिफ़ाई करते है जॉब की जिम्मेदारियों के बारे में बताते है और सैलरी के बारे में पूरी जानकारी देकर ऐप की ट्रेनिंग देते है कि उसे कैसे उपयोग करना है।

क्लिक करके जानिए दस्तावेजों के बारे में

क्लिक करके जानिए जॉइन होने का प्रोसेस

5. विकास और प्रोमोशन के अवसर

लोगों में यह एक गलत धारणा है कि जब स्विग्गी डिलीवरी जॉब की बात आती है तो लोग यही मानते है कि यहाँ कोई विकास या कहें तो ग्रोथ का अवसर नहीं होता है। स्विग्गी भागीदारों को विभिन्न विकास के अवसर प्रदान करता है। अगर कोई उनके साथ एक साल से अधिक समय तक काम करता है तो उन्हें दो ग्रोथ के विकल्प दिए जाते हैं:

  • फील्ड रिक्रूटर: वे डिलिवरी एक्सिक्यूटिव के लिए ऑफ़लाइन भर्ती अभियान का आयोजन करते हैं।
  • डिलिवरी एक्सिक्यूटिव कोच: ये रिक्रूटमेंट की प्रोसेस के दौरान नए डिलिवरी एक्सिक्यूटिव बनने वालों का डाउट क्लियर करते है और उनके सवालों का जवाब देते है।

स्विग्गी कंपनी की प्रोफ़ाइल

स्विग्गी एक प्रमुख ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग और डिलीवरी प्लेटफॉर्म है जिसकी स्थापना 2014 में श्रीहर्ष मजेटी और नंदन रेड्डी ने की थी। कंपनी का मुख्यालय बैंगलोर में है और वर्तमान में, स्विग्गी की भारत में 100 शहरों में उपस्थिति है। स्विग्गी के कारण भारत में ऑनलाइन डिलीवरी और ई-कॉमर्स कंपनियों में वृद्धि के साथ, वितरण अधिकारियों के लिए नौकरी का एक नया अवसर काफी बढ़ गया है।

स्विग्गी एक ऐसी कंपनी है जो देश के विभिन्न हिस्सों में लाखों लोगों को डिलीवरी एक्जीक्यूटिव (डीई) / पार्टनर के रूप में रोजगार प्रदान करती है। वर्तमान में, स्विग्गी के पास 2.1 लाख से अधिक डिलिवरी बॉय हैं जो उनके साथ काम कर रहे हैं। और यह एक मिलियन से अधिक डीई को रोजगार देकर भारतीय सेना और भारतीय रेलवे के बाद देश में तीसरा सबसे बड़ा नियोक्ता बनने की योजना बना रहा है। इसका मतलब यह है कि डिलिवरी एक्सिक्यूटिव की नौकरी की भारी मांग है और लोगों को रोजगार पाने और अपने और अपने परिवार के लिए अच्छा जीवन जीने का एक बड़ा अवसर मिला है।

यदि आप दिल्ली/राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से है तो नीचे बटन पर क्लिक करके अभी अप्लाई करें।

स्विग्गी शिफ्ट टाइमिंग

स्विग्गी फूड डिलीवरी जॉब के जॉइनिंग के समय उनके अनुसार समय चुनने का अवसर देती है:

क्र॰ संख्या

डीई के प्रकार

दिनों की संख्या

घंटे

ब्रेक

1.

फुल टाइम डिलिवरी बॉय सप्ताह में 6 दिन10 घंटे (9 घंटों की शिफ्ट)

1 घंटा 

2.

पार्ट टाइम डिलिवरी बॉय सप्ताह में 6 दिन5 घंटों की शिफ्ट 30 मिनट

3.

टेम्पोररी डिलिवरी बॉय सप्ताह में 3 दिन (शुक्रवार, शनिवार और रविवार) 10 घंटे (9 घंटों की शिफ्ट)

1 घंटा

क्र॰ संख्या डीई के प्रकार शिफ्ट टाइमिंग
1.  फुल टाइम डिलिवरी बॉय 8 AM – 6PM
12PM – 11PM
2. पार्ट टाइम डिलिवरी बॉय 12PM – 5PM
5:30PM – 10:30 PM
7PM – 12AM

स्विग्गी डिलीवरी जॉब में सैलरी की जानकारी

स्विग्गी फूड डिलीवरी जॉब का वेतन प्रत्येक सेगमेंट के लिए अलग है।

क्र॰ संख्या

पार्टनर का प्रकार

प्रति महिना (न्यूनतम)

अधिकतम

1.

स्विग्गी फुल टाइम सैलरी

रुपए 18,000-20,000

रुपए 50,000-60,000

2.

स्विग्गी पार्ट टाइम सैलरी

रुपए 10,000-12,000

रुपए 14,000-18,000

3.

स्विग्गी टेम्पोररी सैलरी

रुपए 6,000-8,000

रुपए 8,000-10,000
  • स्विग्गी डिलिवरी एक्सिक्यूटिव/पार्टनर को प्रति ऑर्डर के लिए भुगतान करता है जो 15 रुपये से लेकर 90 रुपए प्रति ऑर्डर होता है।
  • ये पैसे दूरी और समय के अनुसार देते है। मतलब जितनी दूरी और समय ज्यादा होगा और पैसा उतना ज्यादा मिलेगा।
  • यह प्रति दिन पूर्णकालिक और अंशकालिक डिलिवरी एक्सिक्यूटिव दोनों के लिए न्यूनतम वेतन का भुगतान करता है। यहां तक कि अगर डीई को ऑर्डर नहीं मिलते हैं, तो उन्हें प्रति दिन एक न्यूनतम राशि का भुगतान किया जाएगा, बशर्ते कि वे ऐप में लॉग इन हों और अपने निर्दिष्ट क्षेत्र में मौजूद हों।

न्यूनतम वेतन प्रति दिन

क्र॰ संख्या

डीई का प्रकार

न्यूनतम वेतन प्रति दिन

1.

स्विग्गी फुल टाइम जॉब सैलरी

Rs.500

2.

स्विग्गी पार्ट टाइम जॉब सैलरी

Rs. 300

स्विग्गी से मिलने वाला प्रोत्साहन (इन्सेंटिव)

स्विग्गी डिलीवरी जॉब में वे अपने पार्टनर अधिकारियों को बहुत इन्सेंटिव देती है।

  • इन्सेंटिव न्यूनतम ऑर्डर पूरे करने पर दिया जाता है।
  • 1 लाख का दुर्घटना बीमा होता है।
  • परिवार के लिए 5 लाख का मेडिकल बीमा होता है।

जरूरी दस्तावेज़ और बातें

  1. एक बाइक आरसी के साथ (किसी भी राज्य से पंजीकृत)
  2. एक वैध ड्राइविंग लाइसेन्स
  3. पैन कार्ड
  4. एक आइडेंटिटी प्रूफ (आधार/वॉटर आईडी)
  5. बैंक स्टेटमेंट और पासबुक। अगर बैंक में खाता नहीं है तो इसमें स्विग्गी मदद करती है आपका खाता खुलवाने में।
  6. तरोताजा पासपोर्ट साइज का फोटो।

स्विग्गी फूड डिलीवरी जॉब एप्लिकेशन प्रोसेस

आसानी से अप्लाई करें

जोश टॉक्स प्राइवेट लिमिटेड एक डिजिटल मीडिया कंपनी है। जोश टॉक्स अभी स्विग्गी के साथ आधिकारिक हाइरिंग पार्टनर है। यदि आप दिल्ली/राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से है तो अभी नीचे बटन पर क्लिक करके अप्लाई करें।

यदि आप दिल्ली/राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से नहीं है तो ये प्रोसेस फॉलो करें अप्लाई करने के लिए।

स्टेप 1: सबसे पहले https://ride.swiggy.com पर जाएँ और जानकारी भरें जो ये मांगी जाएगी: आपका नाम, मोबाइल नंबर। शहर और गाड़ी का प्रकार (बाइक/साइकिल)।

स्टेप 2: इसके बाद आपको स्विग्गी से जॉइनिंग के रिगार्डिंग कॉल आयेगा। ये आपको जरूरतमन्द दस्तावेजों के साथ आपको नजदीकी स्विग्गी रिक्रूटमेंट सेंटर बुलाएँगे।

स्टेप 3: सेंटर जाकर आपको अपने दस्तावेज़ जमा करने है। इसके बाद आपके दस्तावेजों का वेरिफिकेशन होगा।

स्टेप 4: इसके बाद डिलिवरी एक्सिक्यूटिव कोच आपको ट्रेनिंग देंगे।

स्टेप 5: फिर 600 रुपए सिक्योरिटी जमा करनी होगी और स्विग्गी आपको एक बैग और टी शर्ट देंगी।

स्टेप 6: इसके बाद आप अगले दिन से ही स्विग्गी फूड डिलिवरी बॉय के रूप से काम शुरू कर सकते है।

स्विग्गी जॉइनिंग प्रोसेस (ऑनबोर्डिंग प्रोसेस)

स्विग्गी फूड डिलीवरी जॉब (डिलीवरी पार्टनर) की जॉइनिंग की प्रक्रिया बहुत सरल है। यह देश भर में अपने विभिन्न भर्ती केंद्रों के माध्यम से जॉइनिंग कराती है। भर्ती केंद्र पर पहुंचने के बाद,

  • सबसे पहले, उम्मीदवारों को सत्यापन के लिए आवश्यक दस्तावेज जमा करने होंगे।
  • दस्तावेजों को जमा करने के बाद, उम्मीदवार को एक फॉर्म दिया जाता है और कुछ विवरणों को भरने के लिए कहा जाता है जैसे जॉब की लोकेशन (कहाँ काम करना है), पता आदि।
  • प्रक्रिया का अगला चरण ट्रेनिंग है जो ऐप का उपयोग करने के बारे में डीई द्वारा ट्रेनिंग दी जाती है कि ऐप कैसे उपयोग करना है। यह ट्रेनिंग 45 मिनट की होती है।
  • इसके बाद, उम्मीदवार को 600 रुपए सिक्योरिटी डिपॉजिट देना होगा। पैसे जमा करने के बाद उम्मीदवार को एक टी-शर्ट और एक डिलीवरी बैग दिया जाता है।
  • अंत में, कम्यूनिकेशन स्किल्स की जाँच की जाती है। इसमें बेसिक अंग्रेजी पढ़ने और हिंदी बोलने की जाँच की जाती है। यह एक बहुत ही सरल प्रक्रिया है। इसके बाद, वह उम्मीदवार स्विग्गी डिलिवरी पार्टनर बन जाता है।

स्विग्गी फूड डिलिवरी बॉय जॉब में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल और उनके जवाब

प्र॰ 1 क्या बाइक उसी जगह की पंजीकृत होनी चाहिए जहां से जॉब करना?

उत्तर: नहीं, ऐसा कुछ नहीं है बाइक कहीं की भी पंजीकृत हो कोई समस्या नहीं है।

प्र॰ 2 क्या बाइक किसी और की हो सकती है?

उत्तर: हां, बाइक किसी की भी हो सकती है। यह मायने नहीं रखता कि बाइक किसकी है। अगर किसी के पास बाइक नहीं है तो वे लोन ले सकते हैं और आसानी से बाइक खरीद सकते हैं।

प्र॰ 3 क्या स्विग्गी में पेट्रोल का पैसा दिया जाता है?

उत्तर: नहीं, लेकिन इसमें सैलरी और इन्सेंटिव अच्छा मिलता है।

प्र॰ 4 अगर डिलीवरी बॉय को दिन में कोई भी ऑर्डर नहीं मिलता है तो क्या होगा, उस दिन उसकी कमाई क्या होगी?

उत्तर: स्विग्गी अपने सभी डिलीवरी पार्टनर को प्रतिदिन न्यूनतम गारंटी प्रदान करता है। इसका मतलब यह है कि भले ही एक डीपी को शिफ्ट के दौरान ऑर्डर नहीं मिला है, फिर भी उन्हें हर दिन एक न्यूनतम राशि का भुगतान किया जाएगा, इसके लिए उन्हें ऐप में लॉग इन रहना होगा और अपने निर्धारित क्षेत्र में मौजूद रहना होगा।

प्र॰ 5 क्या स्विग्गी मोबाइल फोन भी देती है?

उत्तर: स्विग्गी मोबाइल फोन नहीं देती है। फोन आपका खुद का ही रहेगा।

प्र॰ 6 स्विग्गी डिलिवरी बॉय की सैलरी कब मिलती है?

उत्तर: स्विग्गी में सैलरी हर सप्ताह मिलती है।

प्र॰ 7 क्या स्विग्गी में फुल टाइम जॉब के अलावा पार्ट टाइम वालों को भी इन्सेंटिव मिलता है?

उत्तर: हाँ, इन्सेंटिव सभी स्विग्गी डिलिवरी बॉय को मिलती है।

प्र॰ 8 क्या न्यूनतम ऑर्डर को पूरा करने पर कोई इन्सेंटिव मिलता है?

उत्तर: हाँ, न्यूनतम ऑर्डर को पूरा करने पर इन्सेंटिव दिया जाता है।

प्र॰ 9 जॉइनिंग के समय कुछ पैसे जमा करने होते है क्या?

उत्तर: हाँ, जॉइनिंग के समय 600 रुपए सिक्योरिटी के रूप में जमा करने होते है और इसके बदले में आपको एक टी शर्ट और स्विग्गी का बैग मिलता है।

प्र॰ 10 क्या कोई 50 वर्ष का व्यक्ति डिलिवरी पार्टनर बन सकता है?

उत्तर: हाँ, बन सकते है।

प्र॰ 11 क्या फुल टाइम नौकरी के साथ ओवरटाइम ड्यूटी करना संभव है?

उत्तर: हाँ, बिलकुल कर सकते है।

प्र॰ 12 स्विग्गी डिलीवरी बॉय जॉब में छुट्टियों की क्या पॉलिसी है?

उत्तर: जब छुट्टियों की बात आती है तो स्विग्गी में इससे जुड़ी कोई समस्या नहीं है। सभी भागीदारों को प्रति सप्ताह एक छुट्टी प्रदान की जाती है (सोमवार से गुरुवार के बीच)। इसका मतलब है कि एक महीने में 4 छुट्टियाँ दी जाती हैं। और अगर किसी को अधिक छुट्टियाँ लेनी हैं तो वे सुपरवाइज़र को सूचित कर सकते हैं और छुट्टी ले सकते हैं। हालांकि उन अतिरिक्त छुट्टियों के लिए वेतन नहीं दिया जाएगा।

प्र॰ 13 इंटरव्यू में क्या पूछा जाता है और क्या रिज्यूमे मांगा जाता है?

उत्तर: नहीं, इसके लिए कोई इंटरव्यू नहीं होता है और न ही रिज्यूमे मांगा जाता है।

प्र॰ 14 क्या यहाँ वेज और नॉन वेज ऑर्डर को चयन करने का अवसर मिलता है?

उत्तर: नहीं ऐसा कुछ नहीं होता है।

प्र॰ 15 क्या लड़कियां भी स्विग्गी में डीओ बन सकती है? समय और सैलरी किस तरह रहेगी?

उत्तर: हाँ, लड़कियां भी पार्टनर बन सकती है लेकिन यह केवल सुरक्षा के मुद्दों के कारण चुनिंदा क्षेत्रों में है। वेतन और समय सभी का एक जैसा ही रहेगा।

यदि आप दिल्ली/राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से है तो नीचे बटन पर क्लिक करके अभी अप्लाई करें।

जन्म से ही क्रिकेट का दीवाना हूँ लेकिन क्रिकेटर बन नहीं सका और अब विकिपीडियन बनकर खिलाड़ियों पर लिखना शौक बना दिया है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here