करियर

इंटर्नशिप कैसे ढूंढें – सीखें इंटर्नशाला पर अकाउंट बनाना

क्या आप भी इंटर्नशिप करना चाहते हैं लेकिन समझ नहीं आ रहा है कि कैसे और कहाँ से शुरुवात की जाये? इंटर्नशिप ढूँढना अब आसान नहीं है। इसी काम को आसान बना रहा है इंटर्नशाला। तो आज इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि इंटर्नशिप के लिए सबसे अच्छे प्लेटफार्म यानि इंटर्नशाला क्या है और इंटर्नशाला पर अकाउंट कैसे बनाते हैं?

इंटर्नशाला क्या है

आपने कई बार सुना होगा कि काफी स्टूडेंट्स और जॉब करने वाले भी इंटर्नशिप ढूंढ रहे होते हैं। इंटर्नशिप नौकरी पाने के लिए एक स्टेप है जिसमें आपको एक लिमिटेड पीरियड के लिए किसी कंपनी या किसी आर्गेनाइजेशन में काम करना होता है ताकि आप उस काम को सिख सकें। इंटर्नशाला एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ आप अपने स्किल्स के अनुसार किसी भी तरह की इंटर्नशिप पा सकते हैं और जिस तरीके का काम सीखना चाहते हैं उसके लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इंटर्नशिप ढूंढें: इंटर्नशाला पर अकाउंट बनाएं

इंटर्नशाला पर अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले आपको गूगल में www.internshala.com टाइप करना होगा।

इस स्क्रीन पर आपको दो विकल्प दिखेंगे एक लॉगिन और एक रजिस्टर का। यदि आप इंटर्नशाला पर एक नया अकाउंट बना रहे हैं तो आपको रजिस्टर पर क्लिक करना होगा। रजिस्टर पर क्लिक करते ही आपको दो विकल्प मिलेंगे एक रजिस्टर एज स्टूडेंट और एक रजिस्टर एज एम्प्लायर।

हम यहाँ स्टूडेंट के लिए अकाउंट बनाने की बात कर रहे हैं तो आप रजिस्टर एज स्टूडेंट पर क्लिक करेंगे। क्लिक करते ही एक ऐसी स्क्रीन खुल कर आएगी जहाँ आपको रजिस्ट्रेशन डिटेल भरनी होगी।

इस स्क्रीन पर आपको अकाउंट बनाने के लिए दो विकल्प मिलेंगे या तो आप सीधे गूगल से लॉगिन कर सकते हैं या फिर आपको अपना डिटेल भरना होगा। डिटेल में आपको –

ईमेल पता (उदाहरण के लिए)- rawat.neha1209@gmail.com

ध्यान दें – यहाँ ध्यान रखें कि आपकी ईमेल आईडी प्रोफेशनल होनी चाहिए।

– पासवर्ड (उदाहरण के लिए) – 123@abc (ये कम से कम 6 कैरेक्टर में होना चाहिए।)

– पहला नाम और आखिरी नाम जैसे- नेहा रावत।

अब आप “साइन अप” पर क्लिक करें। क्लिक करते ही आपके ईमेल आईडी पर एक वेरिफिकेशन अर्थात पुष्टीकरण लिंक आएगा जिसके लिए आपको अपना ईमेल अकाउंट खोलना होगा।

ईमेल पर आए हुए वेरिफिकेशन लिंक को क्लिक करते ही आपका इंटर्नशाला अकाउंट वेरीफाई हो जायेगा और एक नया स्क्रीन खुल कर आएगा जो कुछ ऐसा दिखेगा।

यहाँ आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी डालनी होगी, जैसे –

– नाम
– मोबाइल नंबर
– वर्तमान शहर – जिस शहर में आप रह रहे है वो डालना है।
– दूसरा शहर – यह विकल्प जरूरी नहीं है, आप इसे छोड़ सकते है।

इसके बाद आपको “next” पर क्लिक करना है।

नेक्स्ट पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा जिस पर आपको अपनी इंटर्नशिप प्रैफरेंसेज डालनी होगी। इंटर्नशिप प्रैफरेंस यानि आपको जिस किसी भी फील्ड में इंटरेस्ट है, जैसे कोड, मार्केटिंग रिसर्च या और भी कुछ तो आपको वो विकल्प सेलेक्ट करने होंगे।

यहाँ आप कई विकल्प सेलेक्ट कर सकते हैं जो प्रेफरेंस के अनुसार होगी। इन विकल्पों के ठीक नीचे आपको इंटर्नशिप का टाइप सेलेक्ट करना होगा यानि आप वर्क फ्रॉम होम/पार्ट टाइम जॉब करना चाहते हैं या फुल-टाइम या फिर दोनों करना चाहते हैं।

घर से काम (Work from home) का मतलब है अपने घर से ही काम करना। इसमें आपको हर दिन ऑफिस नहीं जाना होगा और आप घर से ही उस काम को कर सकते हैं।

पार्ट टाइम (Part time) का मतलब होता है दिन के कुछ घंटे किसी काम को देना। इसमें आपको अपना पूरा दिन काम के लिए नहीं लगाना होगा।

फूल टाइम (Full-time) का मतलब है आपको कंपनी या आर्गेनाइजेशन के ऑफिस में जाकर काम करना होगा।

अगर आप इन तीनों में से वर्क फ्रॉम होम या पार्ट टाइम चयन करते हैं तो आपको फिर से सिटी का प्रेफरेंस डालना होगा जहाँ से आप काम कर सकते हैं।

इसके बाद आपको “सेव” पर क्लिक करें। अब एक नया पेज खुलेगा जहाँ आपको आपके चॉइस के अनुसार इंटर्नशिप विकल्प दिखेंगे। यहाँ से आप अपने चॉइस के अनुसार इंटर्नशिप सर्च कर सकते हैं। स्क्रीन के लेफ्ट साइड में एक बार होगा जहाँ से आप इंटर्नशिप की डेट और अवधि यानि कब तक काम करना है ये चयन कर सकते हैं।

इसके अलावा जो भी प्रेफरेंस आपने चयन किए है उसको एडिट भी कर सकते हैं।

इंटर्नशाला अकाउंट पर प्रोफाइल कैसे अपडेट करें

प्रोफ़ाइल अपडेट करने के लिए आपको पेज के दाहिने तरफ में टॉप पर अपने प्रोफ़ाइल के सेकसन पर जाना होगा, वहाँ आपको “एडिट रिज्यूमे” का विकल्प मिलेगा।

एडिट रिज्यूमे पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा, जहाँ आपको अपनी प्रोफेशनल डिटेल्स डालनी होगी।

शैक्षिक जानकारी

सबसे पहले कॉलम में आपको शिक्षा (educational) की डिटेल के लिए। एजुकेशन डिटेल में आपको अपनी ग्रेजुएशन डिटेल, कक्षा 10वीं और 12वीं की डिटेल, पोस्ट ग्रेजुएशन, डिप्लोमा, पीएचडी से जुड़ी जानकारी भरने का विकल्प दिया जाता है।

ग्रेज्युएशन की जानकारी

अगर आपने ग्रेजुएशन किया है तो आप ग्रेजुएशन, 10वीं और 12वीं तक की जानकारी डालें और इसी तरह आपने जो भी डिग्री की है वहां तक की डिटेल डालें।

मान लीजिये आपने ग्रेजुएशन किया है तो आप ग्रेजुएशन पर क्लिक करें। वहां आपको “Pursuing” और “Completed” दो विकल्प मिलेंगे। अगर आप ग्रेजुएशन कर रहे हैं तो “Pursuing” पर क्लिक करें और अगर आपने कम्पलीट कर लिया है तो “Completed” पर क्लिक करें।

मान लेते है कि किसी ने ग्रेज्युएशन पूर्ण कर दिया है, तो अब यह कुछ जानकारी डालनी होगी –

  • कॉलेज का नाम
  • कॉलेज शुरू होने और खत्म होने का साल
  • डिग्री

डिग्री यानि कौनसी बैचलर डिग्री की है उसका नाम। ये तीनों डिटेल के बारे में बताना अनिवार्य होगा। इसके अलावा आप ग्रेजुएशन की स्ट्रीम की जानकारी, परसेंटेज ऑफ़ मार्क्स की डिटेल भी दाल सकते हैं। 

कक्षा 12वीं की जानकारी

अब आपको कक्षा 12वीं की जानकारी भी डालनी होगी। जिसमें सबसे पहले आप completed पर क्लिक करना। इसमें आप बताएँगे –

– Year of completion – 12वीं पूर्ण करने का साल

– Board – किस बोर्ड से 12वीं पास किया था यानि सीबीएसई/आईसीएसई इत्यादि।

ये दोनों डाटा डालना जरूरी होता है।

  • Performance scale – यानि परसेंटेज या सीजीपीए।
  • Performance – यानि 12वीं के प्रतिशत या सीजीपीए।
  • Stream – मतलब आप ने किस स्ट्रीम से पढाई की है साइंस, आर्ट्स और कॉमर्स में।
  • School – यहाँ आप अपने स्कूल का नाम लिखें।

कक्षा 10वीं की जानकारी

यहाँ आपको कक्षा 10वीं की जानकारी डालनी होगी। इसमें भी आपको 12वीं वाली ही जानकारी डालनी “स्ट्रीम” के अलावा।

  • Year of completion – 10वीं 12वीं पूर्ण करने का साल
  • Board – किस बोर्ड से 10वीं पास किया था यानि सीबीएसई/आईसीएसई इत्यादि।

ये दोनों डाटा डालना जरूरी होता है।

  • Performance scale – यानि परसेंटेज या सीजीपीए।
  • Performance – यानि 10वीं के प्रतिशत या सीजीपीए।
  • School – यहाँ आप अपने स्कूल का नाम लिखें।

इनके अलावा आपने अगर कोई और डिग्री भी ली हुई है, जैसे पीजी, पीएचडी या डिप्लोमा तो आप उसकी भी डिटेल डाल सकते हैं। इसके बाद आप “नेक्स्ट” पर क्लिक करें। अब एक नया कॉलम आएगा “एक्सपीरियंस” का।

अनुभव एक्सपीरियंस

यहाँ आपको बताना है कि क्या आपके पास कोई पहले का इंटर्नशिप एक्सपीरियंस या जॉब एक्सपीरियंस है। अगर आपके पास कोई इंटर्नशिप एक्सपीरियंस है तो आप उसपे क्लिक करें।

इंटर्नशिप के लिए आपको ये जानकारी डालनी होगी –

  • Profile – यानि किस पोजीशन पर काम किया है।
  • Organization – कहाँ काम किया है उसका नाम।
  • Location – कंपनी की लोकेशन।
  • Start aur End date – इंटर्नशिप शुरू होने की और खत्म होने की डेट्स डालें। अगर आप अभी भी उस कंपनी में काम कर रहे हैं तो “कर्रेंटली वर्किंग हीयर” पर क्लिक करें।

इसके अलावा आप अपने इंटर्नशिप की डिस्क्रिप्शन भी आप डाल सकते हैं जहाँ आप बता सकते हैं कि आपने क्या-क्या काम किया है।

सिमिलरली आप जॉब एक्सपीरियंस का भी डाटा डाल सकते हैं। इसमें भी आपको वही विकल्प पूछे जायेंगे। इसके बाद आप “सेव” पर क्लिक करें।

अब आप “next” पर क्लिक करें।

अन्य अनुभव

यहाँ आपको तीन विकल्प मिलेंगे जैसे-

  • Position of responsibility – यहाँ अगर आपने कभी किसी इवेंट में पार्टिसिपेट किया हो, किसी फाउंडेशन में वालंटियर किया हो या कोई भी रिस्पांसिबिलिटी ली हो कॉलेज या स्कूल या काम में तो वो लिखें।
  • Training – यानि अगर आपने कॉलेज के टाइम या कॉलेज के बाद कोई ट्रेनिंग किया हो तो वो लिखें।
  • Project – अगर कभी आपने किसी प्रोजेक्ट पर काम किया हो तो उसके बारे में बताएं।

इन तीनों विकल्पों में भी सभी वही चीज़ें ही पूछी जाएँगी जो पहले पूछी गयी हैं तो आप ये डिटेल्स आराम से भर सकते हैं। आपको डिटेल भरते वक़्त उस ऑप्शन में उदाहरण भी मिलेगा कि आप किस तरह की डिटेल डाल सकते हैं।

अगर आपने ऐसा कुछ नहीं किया है तो आप इस कॉलम को स्किप भी कर सकते हैं।

स्किल्स

अगला ऑप्शन आता है स्किल्स का। यहाँ आपको बताना है कि आपको प्रोफेशनल लेवल पर क्या-क्या आता है जैसे फोटोशॉप एमएस एक्सेल एमएस ऑफिस इत्यादि। 

आप जैसे ही स्किल जोड़ेंगे आपको पूछा जायेगा कि आपको किस लेवल पर वो स्किल आता है जैसे –

  • Beginner – यानि थोड़ा बहुत
  • Intermediate – यानि थोड़ा अच्छा
  • Advanced – यानि बहुत अच्छा

आप इन तीनों में से एक विकल्प चुन लें। इसके बाद आप और सकिल भी डाल सकते है या “Next” पर क्लिक कर सकते है।

काम के उदाहरण (Work samples)

आगे आपसे पूछा जाएगा कि क्या आपने कोई काम किया है जो ऑनलाइन इंटरनेट पर उपलब्ध हो जिसका लिंक आप डाल सकते है।

अगर आपने कोई ब्लॉग लिखा हो, कोई पोर्टफोलियो इत्यादि बनाया हो तो आप इस कॉलम में लिंक डाल सकते हैं। इसके बाद आप फिर से “Next” पर क्लिक कर दें।

अब आपको “एडिशनल डिटेल्स” का कॉलम दिखेगा जहाँ अगर आपने और भी कुछ किया है या कुछ लिखना चाहते हैं तो लिख सकते हैं या “Skip” कर सकते है।

तो अब आपका प्रोफाइल तैयार हो चूका है। प्रोफाइल बनते ही एक बार पूरी प्रोफाइल को अच्छी तरह देख लें। आप बाद में भी सभी कॉलम में कुछ भी जोड़ सकते है या बदलाव कर सकते हैं।

अब आप जब भी किसी जॉब के लिए अप्लाई करेंगे, आपकी प्रोफ़ाइल रिक्रूटर देख सकेंगे।

यदि आप भी अपना प्रोफ़ाइल इनटर्नशाला पर बनाना चाहते है तो वीडियो देखें

अगर आप जानना चाहते है कि लिंक्डइन क्या होता है और उस पर अकाउंट कैसे बनाया जाता है तो यहाँ क्लिक करके सीख सकते है।


तो अब अगर आपके मन में इंटर्नशाला या इंटर्नशिप से जुड़ा कोई सवाल या संदेह हो तो बेझिझक नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो हम आपको जवाब जरूर देंगे।

जन्म से ही क्रिकेट का दीवाना हूँ लेकिन क्रिकेटर बन नहीं सका और अब विकिपीडियन बनकर खिलाड़ियों पर लिखना शौक बना दिया है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here