वित्तीय साक्षरता

बिजनेस लोन कैसे लें हिंदी में जानें

हम सब में से कई लोग ऐसे हैं जो अपना खुद का व्यापार करने का सपना देखते हैं, और कई लोग ऐसे भी है जिनका पहले से चलता हुआ व्यापार है और उसे और बड़ा करना चाहते हैं| लेकिन हम सब के साथ कई बार पैसे की दिक्कत आ जाती है | क्युकि किसी भी व्यापार को खोलने या फिर बढाने के लिए पैसा तो चाहिए ही | ऐसी परिस्थिति में हम व्यापार के लिए लोन यानि ऋण (लोन) ले सकते हैं| लेकिन अगर आपको नही पता कि लोन यानि ऋण कैसे लिया जाता है तो आज इस ब्लॉग के ज़रिये हम आपको बताएगें बिजनेस लोन से जुडी पूरी जानकारी। यह आर्टिकल उनके लिए मददगार रहेगा जिन्हें बिजनेस लोन लेना है।

इस आर्टिकल में हम आपको बतायेंगे

बिज़नेस लोन क्या होता है

बिज़नेस के लिए लोन कहा से ले

बिज़नेस लोन के लिए योग्यता

बिज़नेस लोन के लिए ज़रूरी कागज़

बिज़नेस लोन लेने के लिए आवेदन कैसे करें  

बिज़नेस लोन के लिए अच्छा बैंक

बिज़नेस लोन क्या होता है

बहुत सारे लोग यह कहते है कि बिजनेस लोन लेना है और बहुत कोशिशों के बाद मिलता है। अगर आप कोई दुकान ,रिटेल शॉप , होलसेल, डिस्ट्रीब्यूटरशिप या किसी भी तरह का खुद का बिज़नेस खोलना चाहते है या अपने पहले से चल रहे बिज़नेस को बढाना चाहते हैं और इसके लिए आपके पास पैसे कि कमी है तो आप लोन यानि ऋण ले सकते हैं| बिज़नेस के लिए लिए गये लोन को बिज़नेस लोन या व्यावसायिक लोन कहा जाता है| जब आप बिज़नेस लोन लेते हैं, तो ये एक तरह से उधार होता है जिसे आपको इंटरेस्ट यानि ब्याज के साथ लौटाना होता है।

व्यावसायिक लोन लेने के लाभ

बिज़नेस के लिए लोन क्या होता है ये तो आप जान ही चुके हैं पर क्या आप जानते है कि आप अपने बिज़नेस के लिए बहुत से पर्पस को पूरा करने के लिए लोन ले सकते हैं जैसे-

·         अपने बिज़नेस का कैश फ्लो बढाने के लिए

·         टेक्नोलॉजिकल अपग्रेडेशन बढाने के लिए

·         अपने बिज़नेस के लिए नये टूल्स और मशीने खरीदनें के लिए

·         इन्वेंटरी यानि कि स्टॉक्स को बढाने के लिए

·         सीजनल कर्मचारी बढाने के लिए

·         बड़े ऑर्डर्स के लिए कच्चा माल खरीदनें के लिए

·         दूसरें शहर में अपने व्यापार को बढाने के लिए

·         अपने बिज़नेस के ओपरेशन को बढाने के लिए और नये प्रोजेक्ट्स पर काम करने के लिए

बिज़नेस के लिए लोन कहाँ से लें

बिज़नेस लोन को तीन कारणों से श्रेणीयों में बाटा जाता है| एक व्यवसायी के लिए ये जानना ज़रूरी है कि कितने तरीकें के बिज़नेस लोन होते हैं और अपने व्यवसाय कि ज़रुरतो को ध्यान में रख कर ही उसे सही टाइप का लोन लेना चाहिए| तो आईये जानते हैं कितने प्रकार के बिज़नेस लोन्स होते हैं और व्यावसायिक लोन हम कहा से ले सकतें हैं-

1: सरकारी योजना के तहत बिज़नेस लोन ले

2: बैंक से कैसे लोन ले

3: महिला व्यवसायी के लिए बिज़नेस लोन स्कीम

1: सरकारी योजना के तहत बिज़नेस लोन ले

जहां पर सरकारी योजनायो कि बात आती है तो हम सबसे पहले बात करते हैं MSME यानि मिनिस्ट्री ऑफ़ माइक्रो,स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज.

MSME सेक्टर पिछले 5 सालो में इंडियन इकॉनोमी (भारतीय अर्थव्यवस्था) का सबसे गतिशील और जीवंत सेक्टर साबित हुआ है| MSME सेक्टर भारतीय सरकार के अंडर आता है और ये संबंधित विभाग प्रदेश सरकार और हितधारको के सहयोग के साथ मौजूदा व्यापारियों को मदत करता है और नये व्यापारियों को प्रोत्साहित करता है| MSME भी अपनी कुछ योजनायो द्वारा बिज़नेस लोन देता है जैसे क्रेडिट गारंटी स्कीम, कॉयर उधमी योजना और भी कई |

MSME से जुड़ीं ज्यादा जानकारी के लिए आप इनकी वेबसाइट पर जा सकते हैं|

भारतीय सरकारों द्वारा छोटे व्यापार और स्टार्ट अप को बढाने के लिए बहुत सी स्कीम बनाई गयी हैं जिसके द्वारा एक व्यवसायी लोन ले सकता है| तो आइये जानते है ऐसी ही कुछ स्कीम के बारे में

द क्रेडिट गारंटी स्कीम (CGS)
भारतीय सरकार द्वारा CGS को माइक्रो और स्मॉल इंटरप्राइजेज के लिए लॉन्च किया गया है ताकि इन् सेक्टर्स को बिना किसी दिक्कत के लोन कि सुविधा दी जाये| इस स्कीम के अंडर दोनों नई और पहले से चल रही बिज़नेस को कवर किया जाता है| ये स्कीम माइक्रो इंटरप्राइजेज और फर्स्ट जनरेशन व्यवसाय को छोटे बिज़नेस लोन कम ब्याज दर पर देती है | इस स्कीम के अंडर लोन का अमाउंट आवेदक कि पात्रता और ऊनके बिज़नेस कि साध्यता पर निर्भर करता है| इस स्कीम के अंडर ज्यादा से ज्यादा 1 करोड़ कि लिमिट है|

द क्रेडिट गारंटी स्कीम (CGS) कि योग्यता जानने के लिए यहाँ क्लिक करें|

मुद्रा लोन योजना

मुद्रा( माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रीफाईनेन्स एजेंसी लिमिटेड) का मकसद है माइक्रो यूनिट्स और नॉन कॉर्पोरेट्स स्मॉल बिज़नेस सेक्टर को बिज़नेस लोन देना | इस स्कीम के अंडर लोन लेने के लिए किसी भी गारंटी कि ज़रूरत नही पड़ती है| मुद्रा लोन स्कीम के अंडर आप इन् टाइप्स के लोन ले सकते हैं-

शिशु-  इस प्लान के अंडर आपको 50,000 तक का लोन बिना किसी गारंटी के मिलता है जिस पर 1% ब्याज दर / प्रति माह होता है और लोन का पैसा 5 साल बाद प्रतिदेह होता है |

किशोर- इस प्लान के अंडर आपको 50,000 से लेकर 5,00,000 तक का लोन मिलता है|

तरुण- इस प्लान के अंडर आपको 5,00,000 से लेकर 10,00,000 तक का लोन मिलता है|

मुद्रा लोन को बिज़नेस के स्तर और फंडिंग कि ज़रुरतो को देखते हुए दिया जाता है|

मुद्रा लोन के लिए मात्रता मापदंड जानने के लिए यहा क्लिक करे |

स्टैंड अप इंडिया स्कीम
स्टैंड अप इंडिया स्कीम में कम से कम 1 अनुसूचित जाती  (SC) या फिर अनुसूचित  जनजाति के उधार लेने वाले को ग्रीन फील्ड इंटरप्राइजेज सेट अप करने के लिए Rs 10,00,000 से Rs 1 करोड़ तक के बीच का लोन दिया जाता है | स्टैंड अप इंडिया एक स्पेशल सरकारी योजना है जो  SC/ST और  महिला व्यवसायी को  आर्थिक रूप से सशक्त करने के लिए लोन देती है |लोन कि  वापसी का समय 7 साल होता है |

स्टैंड अप इंडिया स्कीम का मात्रता मापदंड जानने के लिए यहा क्लिक करे |

कॉयर उद्यमि योजना    

इस स्कीम के तहत पुरे भारत में कॉयर यूनिट्स तय किये जाते हैं | ये स्कीम Rs 10,00,000 और एक साइकिल के वर्किंग कैपिटल के बीच शुरू किये गये प्रोजेक्ट के लिए फंडिंग करती है | इसके अंडर दिए गये फंड्स यानि लोन टोटल प्रोजेक्ट कास्ट के 25% से अधिक नही करना चाहिए | इस स्कीम में लोन कि  वापसी का समय 7 साल होता है |

कॉयर उद्यमि योजना का मात्रता मापदंड जानने के लिए यहा क्लिक करे |

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चरल एंड रूरल डेवलोप्मेंट (NABARD)- NABARD एक डेवलोप्मेंट बैंक है जिसका मकसद है लोन और अन्य सुविधा देना और एग्रीकल्चरल , कॉटेज और स्मॉल इंडस्ट्रीज, गाँव इंडस्ट्रीज को डेवलॉप करना| NABARD रूरल जगहोँ में लोन मुहिया करतीं है |

NABARD से जुड़ीं ज्यादा जानकारी के लिए आप इनकी वेबसाइट पर जा सकते है|

2.बैंक से लोन कैसे ले हिंदी में  

अब आप ये तो जान चुके है कि सरकारी योजनाओं जैसे मुद्रा लोन आदि के द्वारा बिज़नेस लोन कैसे ले सकते हैं| तो आईये अब जानते हैं कि बैंक से लोन कैसे ले हिंदी में-

ओवरड्राफ्ट

जैसा कि नाम से पता चल रहा है, ओवरड्राफ्ट का मतलब है अपने करंट अकाउंट यानि चालू खाते से ओवरड्राविंग करना| इस सुविधा के लिए आपको एक तय ब्याज दर पर चार्ज किया जायेगा| अगर आप अपने खाते से ओवरड्रा नहीँ करते तो आपको इसके लिए चार्ज नही किया जायेगा |

टर्म लोन

शार्ट टर्म, लॉन्ग टर्म और मध्यम समय के लिए लोन लिया जा सकता है| टर्म लोन 2 तरीके के होते हैं – सिक्योर्ड बिज़नेस लोन्स और अनसिक्योर्ड बिज़नेस लोन्स| सिक्योर्ड बिज़नेस लोन्स के लिए आपको बैंक के पास कोलैटरल रखवाना पड़ता है और अनसिक्योर्ड बिज़नेस लोन्स के लिए किसी भी प्रकार के कोलैटरल या सिक्योरिटी कि ज़रूरत नही पड़ती| सिक्योर्ड बिज़नेस लोन्स का ब्याज दर अनसिक्योर्ड बिज़नेस लोन्स के मुकाबले में कम होता है |

बिल डिस्काउंटिंग

बिल डिस्काउंटिंग एक इंस्टेंट कैशबैक का तरीका है| इसके लिए आपको बिल्स ऑफ़ एक्सचेंज दिखाना पड़ता है जिसके बदले में आपको काश मिलता है जो कि बिल में लिखे अमाउंट से कम होता है | इस सुविधा के लिए आपको कुछ ज़रूरी कागजो कि ज़रूरत पड़ती है जैसे इनवॉइसेस ट्रांसपोर्टेशन रिसीप्ट आदि |

लैटर ऑफ़ क्रेडिट

लैटर ऑफ़ क्रेडिट को LC भी कहा जाता है| यह आमतौर पर इंटरनेशनल बिज़नेस ले लिए इस्तेमाल किया जाता है|

3. महिला व्यवसायी के लिए बिज़नेस लोन स्कीम

अगर समाज में योगदान देने कि बात आये तो महिलाएं किसी भी तरह का बिज़नेस संभाल सकती हैं| बैंक महिलाओं कि इन क्षमताओं को समझ चुकें हैं और एक कामयाब बिज़नेस चलाने वाली महिला को स्मॉल बिज़नेस लोन ऑफर करते हैं पर इनके लिए उन्हें आर्थिक सहयोग कि ज़रूरत नही पड़ती | बैंक्स और NBFCs जैसे फाईनेनशियल इंस्टीट्यूशन महिला व्यवसायी के लिए बहुत सी स्कीम लायी है | तो आइये जानते हैं इन स्कीमों के बारे में- 

सेंट कल्याणीं स्कीम

यह स्कीम सेंट्रल बैंक द्वारा मुहिया करायी जाती है | महिलाएं नये बिज़नेस शुरू करने के लिए लोन्स ले सकती हैं| नये या अनुभवी सभी प्रकार के बिज़नेस ओनर्स,सेल्फ इम्प्लोयेड और पेशेवरो को लोन दिया जाता है| जो महिलाएं एग्रीकल्चर और कॉटेज इंडस्ट्रीज कि फील्ड में व्यवसायी हैं वो इस स्कीम के अंडर लोन ले सकती हैं|

स्त्री शक्ति पैकेज फॉर वोमेन Entrepreneurs

यह स्कीम उन महिला व्यवसायी को ऑफर कि जाती है जिनकी स्मॉल बिज़नेस में 50% तक कि ओनरशिप हो | इसके लिए महिला व्यवसायी को स्टेट एजेंसी द्वारा ऑर्गनाइज करवाए गये उधमिता विकास कार्यक्रम (EDP)  में पार्ट लेना पड़ता है| इस स्कीम के अंडर महिला व्यवसायी को 0.05% कन्सेशन मिलता है ब्याज दर पर लेकिन ये ब्याज दर का कन्सेशन महिला तभी लागू कर सकती है जब लोन का अमाउंट Rs 2,00,000 से ज्यादा हो |

देना शक्ति स्कीम

यह स्कीम देना बैंक द्वारा निकाली गयी है जिसके द्वारा वो महिला व्यवसायी को फाईनेनशियल असिस्टेंस प्रोवाइ करके फीमेल ओनर बिज़नेस को प्रमोट करते हैं – इस स्कीम के अंडर लोन लेने पर 0.25% का कन्सेशन मिलता है ब्याज दर पर | जो महिलाएं स्मॉल इंटरप्राइजेज, माइक्रो क्रेडिट या रिटेल स्टोर चलाती हैं, वो इस स्कीम के अंडर लोन ले सकती हैं |

उद्योगिनी स्कीम

यह स्कीम पंजाब एंड सिंध बैंक द्वारा महिला व्यवसायी को प्रोत्साहित करने के लिए ऑफर कि गयी है| इस स्कीम के अंडर महिला व्यवसायी को स्मॉल स्केल इंडस्ट्री बनाने के लिए उन्हें कम ब्याज दर पर लोन्स मुहिया कराये जाते हैं| रिटेल ट्रेडर्स और सेल्फ इम्प्लोयेड महिला व्यवसायी को भी इस स्कीम के अंडर लोन दिया जाता है|

महिला उद्यम निधि स्कीम

यह स्कीम स्मॉल इंडस्ट्री डेवलोप्मेंट बैंक (SIDBI)द्वारा महिला व्यवसायी को ऑफर कि जाती है| इस स्कीम के अंडर SIDBI द्वारा  Rs 10,00,000 तक का लोन प्रोवाइड किया जाता हा ताकि महिलाएं स्मॉल स्केल सेक्टर में नये बिज़नेस शुरू कर सकें|

बिज़नेस लोन के लिए योग्यता

अब हम ये तो जान चुके हैं कि बिज़नेस लोन हम बहुत से सोर्सेज के द्वारा ले सकते हैं जैसे कि सरकारी योजनाये , बैंक लोन्स और महिला व्यवसायी के लिए स्पेशल स्कीम| आइये अब जानते हैं कि इन स्कीमों के अंडर आवेदन करने कि योग्यता क्या होती है|

1.     सरकारी योजनाओं के अंडर लोन लेने कि योग्यता

द क्रेडिट गारंटी स्कीम कि योग्यता

यह स्कीम नये और पुराने दोनों प्रकार के MSMEs पर लागू है जो कि मैन्युफैक्चरिंग या सर्विस एक्टिविटी में सौदा करती हैं |

मुद्रा लोन स्कीम कि योग्यता   

नॉन कॉर्पोरेट स्मॉल बिज़नेस सेगमेंट (NCSB)जिसमे रूरल और अर्बन एरिया कि प्रोपराइटरशिप/ पार्टनरशिप फर्म शामिल हो , इस स्कीम के अंडर लोन के लिए आवेदन कर सकते है| NCSBs के कुछ उदाहरण हैं जैसे

1.      स्मॉल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स

2.      सर्विस सेक्टर यूनिट्स

3.      दुकानदार

4.      फल सब्जी विक्रेता

5.      ट्रक ऑपरेटर

6.      फ़ूड सर्विस यूनिट्स

7.      रिपेयर शॉप्स

8.      मशीन ऑपरेटर्स

9.      स्मॉल इंडस्ट्री  

10.  कारीगर

11.  फ़ूड प्रोसेसर आदि

सभी प्रकार कि मैन्युफैक्चरिंग, ट्रेडिंग और सुर्विस सेक्टर यूनिट्स को इस सेक्टर के अंडर लोन मिल सकता है |

मुद्रा लोन स्कीम के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें |

स्टैंड अप इंडिया स्कीम कि योग्यता

जो इंटरप्राइजेज मैन्युफैक्चरिंग, ट्रेडिंग सुर्विस में शामिल हैं वो इस स्कीम के अंडर लोन ले सकते हैं| नॉन इंडिविजुअल इंटरप्राइजेज के केस में कम से कम 51% कि शेयर होल्डिंग और कंट्रोलइंग स्टेक एक SC/ST या महिला व्यवसायी के पास होनी चाहिए| उधार लेने वाले का किसी भी बैंक या फाईनेनशियल इंस्टीट्यूशन के साथ पेमेंट में कोए डिफ़ॉल्ट नहीं होना चाहियें|

इस स्कीम के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें |

कॉयर उद्यमि योजना स्कीम योग्यता

सभी कॉयर प्रोसेसइंग MSME स्टार्ट अप को कि कर इंडस्ट्री रूल्स, 2008, के तहत कॉयर बोर्ड के अंडर रजिस्टर है-

1.इस स्कीम के अंडर उन सभी इंडिविजुअल, कम्पनी, सेल्फ हेल्प ग्रुप, NGOs ,इंस्टीट्यूशन को सहायता मुहिया कि जाएगी जो सोसाइटी रजिस्ट्रेशन एक्ट, 1860 के अंडर रजिस्टर्ड हैं| प्रोडक्शन कोर्पोरेटिव सोसाइटी, जॉइंट लाइब्रेरी ग्रुप और चैरिटेबल ट्रस्ट को भी बिज़नेस लोन दिया जाता है|

2.वो स्टार्ट अप जो पहले से किसी सरकारी सब्सिडी या किसी सरकारी योजना के अंडर इस फैसिलिटी को पहले ले चुके हैं वो इस स्कीम के अंडर बिज़नेस लोन लेने के लिए एलिजिबिल नही हैं|

इस स्कीम के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें |

2.बैंक बिज़नेस लोन के लिए योग्यता

सबसे पहले जानते हैं कि बंक्से लोन के लिए कौन कौन सी पार्टीज योग्य हैं-

a)      सेल्फ-इम्प्लोयेड बिज़नेसमेन और प्रोफेशनल

b)      लिमिटेड या प्राइवेट लिमिटेड फर्म

c)       मेनूफेक्चर, रिटेलर या सर्विस प्रोवाइडर

अब जाते है कि बैंक से लोन लेने के लिए मात्रता मापदंड  क्या होता है |

·         आवेदक कि उम्र 21 – 65 साल के बीच होनी चाहियें|

·         बिज़नेस कम से कम 3 साल पुराना होना |

·         बिज़नेस में पिछले 2 साल से प्रॉफिट हो रहा होना चाहियें |

·         बिज़नेस का टर्न ओवर 40-50 लाख प्रति वर्ष होना चाहियें|

· कम से कम फ़ायदा 1-2 लाख तक होना चाहियें |

3. महिला व्यवसायी स्कीम के लिए योग्यता

 

सेंट कल्यानी स्कीम

स्त्री शक्ति पैकेज स्कीम

देना शक्ति स्कीम

उद्योगिनी स्कीम

योग्यता

18 साल से ज्यादा कि महिलाएं

Women entrepreneur का बिज़नेस में 51%या उससे ज़्यादा कि ओनरशिप होनी चाहियें|  

Women entrepreneur  का बिज़नेस में 51%या उससे ज़्यादा कि ओनरशिप होनी चाहियें |

Women entrepreneur कि उम्र 18-55 के बीच होनी चाहियें और इनकम सीलिंग  1.5 लाख है|

बिज़नेस लोन के लिए ज़रूरी काग़ज

बिज़नेस लोन लेने के लिए हमे बहुत से डॉक्यूमेंट कि ज़रूरत पड़ती है, लेकिन आपको कौनसे डॉक्यूमेंट कि ज़रूरत पड़ेगी यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप लोन कहा से ले रहे हैं|

1.अगर आप सरकारी योजना के तहत बिज़नेस लोन ले रहे हैं तो आपको हर स्कीम के लिए अलग डॉक्यूमेंट चाहियें होंगे, लेकिन हम आपको कुछ ऐसे डॉक्यूमेंट बताएंगे जो कि सभी स्कीम के लिए कॉमन हैं जैसे-

·         GST आइडेंटिफिकेशन नंबर

·         इनकम टैक्स कि डिटेल जो कि पिछले 3-5 साल में दिया हो

·         आखिरी 6 महीनो कि बैंक डिटेल

·         जिस प्रकार का आप लोन लेना चाहते हैं ,उसकी प्रॉपर डिटेल

·         कंपनी/पार्टनरशिप फर्म के डायरेक्टर्स या पार्टनर्स कि लिस्ट

·         E-KYC – सभी डॉक्यूमेंट जिनकी आवेदक को E-KYC के टाइम ज़रूरत पड़ेगी जैसे कि पर्सनल ID, एड्रेस प्रूफ, प्रीमयस्स प्रूफ,आधार नंबर आदि|

2.       अगर आप बैंक से बिज़नेस लोन लेते हैं तो आपको कुछ डॉक्यूमेंट कि ज़रूरत पड़ेगी जैसे-

o    पिछले 3 सालो का इनकम टैक्स रिटर्न (ITR)

o    बैंक स्टेटमेंट

o    बिज़नेस प्रूफ

o    सर्टिफिकेट ऑफ़ प्रैक्टिस

o    आवेदक कि नई लेटेस्ट फोटो

o    आइडेंटिटी प्रूफ जैसे आधार कार्ड,वोटर आईडी कार्ड,PAN कार्ड ,कम्पनी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट आदि

o    रेजिडेंस प्रूफ

o    दुसरे डॉक्यूमेंट जैसे सोलो प्रॉपर्टी डिक्लेरेशन्स, पार्टनरशिप डीड कि सर्टिफाइड कॉपी , ममोरंडम ऑफ़ एसोसिएशन्स और आर्टिकल्स ऑफ़ एसोसिएशन्स कि सर्टिफाइड कॉपी आदि|

3.अगर आप एक महिला व्यवसायी हैं और आप महिला व्यवसायी के लिए बनायीं गयी सरकारी योजनाओं के द्वारा लोन लेना चाहती हैं तो आपको कुछ डाक्यूमेंट्स कि ज़रूरत पड़ेगी जैसे-

o    आइडेंटिटी प्रूफ – आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट

o    एड्रेस प्रूफ- राशन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट

o    रेजिडेंस प्रूफ- यूटिलिटी बिल्स, लैंडलाइन बिल्स, वाटर बिल्स

o    इनकम प्रूफ- पिछले 2 सालो कि बैंक स्टेटमेंट

o    फाईनेनशियल डॉक्यूमेंट- इनकम टैक्स रिटर्न (पिछले 2 सालो का), पिछले 2 सालो का प्रॉफिट और लॉस स्टेटमेंट, C.A. द्वारा ऑडिट कि गयी बैलेंस शीट|

o    बिज़नेस ओनरशिप- पार्टनरशिप बिज़नेस के लिए पार्टनरशिप डीड, सोलो प्रोपराइटर डीड अगर आप सोलो प्रोपराइटर हैं, ममोरंडम ऑफ़ एसोसिएशन्स और आर्टिकल्स ऑफ़ एसोसिएशन्स कि सर्टिफाइड कॉपी आदि|

बिज़नेस लोन के लिए आवेदन कैसे करें

अगर आप बैंक से बिज़नेस लोन के लिए आवेदन कर रहे हैं तो आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीको से इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं-

ऑनलाइन प्रोसेस

1.अगर आपका फाईनेनशियल लेंडर यानि कि बैंक ऑनलाइन सुविधा देता है तो सबसे पहला स्टेप होगा उनकी वेबसाइट पर जाना|

2.उनकी वेबसाइट में लोन सेक्शन पर जाकर , बिज़नेस लोन या स्मॉल बिज़नेस लोन का विकल्प चुने|

3.आवेदक याकि अप्प्लिकेंट फॉर्म डाउनलोड करें और उसमे सभी ज़रूरी जानकारी भरें|

4.इसके बाद आवेदक फार्म में सबमिट करें|

5.जब बैंक कि कस्टमर सर्विस टीम से आपको कोइ इन्फॉर्म करे,तो अपने फॉर्म को वेरिफिकेशन के लिए डाल दें|

6.अगर आप लोन के एलिगिबिलिटी क्राइटेरिया को मैच करते हैं, तो आपका लोन अपप्रूव हो जायेगा और थोड़े ही दिनों में आपको आपके लोन का अमाउंट भी मिल जायेगा|

उदहारण – अगर आप HDFC बैंक में बिज़नेस लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन करते हैं तो आपको कुछ स्टेप्स लेने पड़ेंगे जो हमने पिक्चर्स कि मदत से समझाया हुआ है|

स्टेप 1 – सबसे पहलें आप HDFC बैंक कि वेबसाइट पर जायें| प्रोडक्ट्स के हेड में जाकर लोन पर क्लिक करें जिसके अन्दर आपको बिज़नेस लोन का विकल्प दिखेगा|

स्टेप 2 – बिज़नेस लोया के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आप अगले पेज पर जायेंगे जहां आपको “अप्लाई ऑनलाइन” के नाम से एक विकल्प दिखेगा| उस विकल्प पर क्लिक करें|

स्टेप 3 – “अप्लाई ऑनलाइन”के आप्शन पर क्लिक करने के बाद अगला कदम है अपनी निजी जानकारी भरना जैसे कि नाम, उम्र, फ़ोन नंबर, ईमेल आई-डी और शहर|

स्टेप 4 – निजी जानकारी भरने के बाद अगला कदम है अपनी बिज़नेस डिटेल भरना जिसमे आपको बताना होगा कि आप HDFC बैंक के यूजर है या नही, करंट इंडस्ट्री, समय इन करेंट इंडस्ट्री और सालाना प्रॉफिट| सारी जानकारी भरने के बाद सबमिट पर क्लिक करें| आपकी ऑनलाइन बिज़नेस लोन एप्लीकेशन सबमिट हो जाएगी और 24 घंटो के अन्दर आपको बैंक से फ़ोन आ जायेगा|

ऑफलाइन प्रोसेस

1.       सबसे पहले अपने बैंक कि शाखा में जाकर वहां से आवेदन फार्म लें|

2.       आवेदन फार्म में सभी जानकारी भरने के बाद फार्म में लगा कर और सभी ज़रूरी डॉक्यूमेंट सबमिट करें|

3.       उसके बाद लेंडर यानि बैंक आपके सभी डाक्यूमेंट्स कि जाँच करेगा|

4.       अगर आप लोन के एलिजिबिलिट को मैच करते हैं तो आपका लोन पास हो जायेगा और थोड़े हि दिन में आपको आपके लोन के पैसे भी दे दिए जायेगें|

अगर आप सरकारी योजना के द्वारा या महिला व्यवसायी योजना के द्वारा लोन लेना चाहते हैं तो आपके आवेदन करने का प्रोसेस होता है-

1.       जिस स्कीम के द्वारा आप लोन लेना चाहते हैं उसके ऑनलाइन पोर्टल पर जायें|

2.       पोर्टल पर रजिस्टर करें और वन टाइम पासवर्ड (OTP) ऑथेंटिकेशन के द्वारा लौगइन करें|

3.       स्कीम कि टर्म एंड कनडीशन पर अग्री करें|

4.       अपने फाईनेनशियल क्रेडेंशियल और बाकि कि ज़रूरी जानकारी भरे|

5.       आगे बड़े और मांगे गये फार्म और डिटेल अपलोड करें|

6.       अगर आप लोग के एलिजिबिलिटी को मैच करते हैं तो आपका लोन पास हो जायेगा और थोड़े ही दिनों में आपको आपके लोन के पैसे भी दे दिए जायेंगे|

उदाहरण – अगर आप स्टैंड अप इंडिया स्कीम के द्वारा लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन करते हैं तो आपको कुछ स्टेप्स लेने पड़ेंगे जो हमने पिक्चर कि मदत से समझाया हुआ है-

स्टेप 1 – सबसे पहले आप उस स्कीम कि ऑनलाइन वेबसाइट पर जायें जिस स्कीम के द्वारा आप बिज़नेस लोन लेना चाहते हैं| हमने यहां आपको स्टैंड अप इंडिया स्कीम का उदाहरण दिया है जिसके होम पेज कि पिक्चर नीचे दे रखी है|

स्टेप 2 – स्टैंड अप इंडिया के होम पेज पर जाने के बाद नेचे स्क्रोल डाउन करें जहां आपको “यू मे एक्सेस लोन” का हेड दिखेगा| उस हेड में दिए गये “अप्लाई हियर” के विकल्प पर क्लिक करें|

स्टेप 3 – अप्लाई हियर” के विकल्प पर क्लिक करने के बाद सबसे पहले आपको अपने आप को रजिस्टर करवाना पड़ेगा जिसका फार्म अपियर होता है| ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म में सारी जानकारी भरने के बाद और सबमिट करने के बाद ‘Choose Hand Holding Support’ का पेज आयेगा| उसमें जानकारी भरने के बाद आपको फार्म भरना होगा और लास्ट स्टेप में आपको अपना प्रीफिरेन्स लेंडर यानि कि वो बैंक चुनना होगा जिससे आप लोन लेना चाहते हैं|

बिज़नेस लोन्स के लिए सबसे अच्छा बैंक

आब आप बिज़नेस के लिए लोन कैसे ले हिंदी में के बारे में तो जान चुके हैं पर एक सवाल जो हम सभी के मन में है कि कौन से बैंक से लोन ले| लोन लेने से पहले ये तय करना बहुत ज़रूरी है कि आप किस बैंक से बिज़नेस लोन लेना चाहते हैं और ये आप ब्याज दर और प्रोसेसइंग फीस के बेसिस पर तय कर सकते हैं| तो आइये जानते है ऐसे ही कुछ बैंक के नाम-

Business Loan Interest Rates

Processing fee

 

भारतीय स्टेट बैंक

11.20%

2% से 3%

HDFC बैंक

15.65%

0.99%से शुरू , Max. 2.50%

ICICI बैंक

16.49%

0.99% से 2%

बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र

14.50%

लोन अमाउंट का 1%, Min. Rs 1,000

कारपोरेशन बैंक

13.55%

1.5%, Min. Rs 500

पंजाब नेशनल बैंक

12.65%

1.8% + taxes

धन लक्ष्मी बैंक

13.15%

 

सिंडिकेट बैंक

12.65%

0.5%, Min. Rs 500

बैंक ऑफ़ बरोड़ा

14.10%

1% tak

   
     
     
     

हमने आपको कुछ टॉप बैंक के नाम बताये हैं जहां से आप बिज़नेस लोन ले सकते हैं पर ऐसा ज़रूरी नही है कि बिज़नेस लोन्स के लिए आप इन्ही बैंक को चुने| आप और भी बहुत से बैंक के ब्याज दर को देख कर ये तय कर सकते हैं कि आप कहां से लोन लेना चाहते हैं| इसके अलावा बाकि बैंक के ब्याज दर जानने के लिए यहां क्लिक करें|

नोट- बिज़नेस लोन का ब्याज दर आपके बिज़नेस के सालाना टर्नओवर, बिज़नेस कितने टाइम से चल रहा है, अपने कितने लोन अमाउंट के लिए आवेदन किया है, रीपेमेंट कैपेसिटी आदि पर निर्भर करता है| जितना ज्यादा लोन का अमाउंट होगा उतना कम ब्याज दर होगा|

आपको इस आर्टिकल से बिज़नेस के लिए लोन कैसे लें हिंदी में से जुडी पूरी जानकारी मिल गयी होगी, लेकिन अगर अभी भी आपके बिज़नेस के लिए लोन कैसे ले हिंदी में से जुड़े कुछ सवाल हैं जिनके जवाब आप जनना चाहते हैं,तो हमसे कमेंट बॉक्स मैं ज़रूर पुछिये|

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here