होम करियर

दिल्ली यूनिवर्सिटी 2019 एडमिशन और पंजीकरण की पूरी जानकारी

12वीं के परिणाम आने के बाद हर विद्यार्थी का मकसद होता है या नौकरी करें या आगे की पढ़ाई पूरी करें। तो अगर पढ़ाई की बात करें तो बहुत सारे विद्यार्थी अच्छी यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना चाहते है। देश में बहुत सारी लोकप्रिय विश्वविद्यालय है और ऐसी ही एक विश्व प्रसिद्ध विश्वविद्यालय है दिल्ली विश्वविद्यालय। दिल्ली यूनिवर्सिटी यानि डीयू। तो आज हम दिल्ली विश्वविद्यालय के एडमिशन अर्थात दाखिले के और बाकी सभी जानकारी के ऊपर आपको बताने जा रहे है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी के बारे में जानें

दिल्ली यूनिवर्सिटी कॉलेज 2019

दिल्ली यूनिवर्सिटी में अप्लाई करने के लिए योग्यता

दिल्ली यूनिवर्सिटी एडमिशन ऑनलाइन पंजीकरण 2019 का प्रोसेस

दिल्ली यूनिवर्सिटी यूजी एडमिशन प्रोसेस मेरिट के आधार पर

दिल्ली यूनिवर्सिटी यूजी एडमिशन प्रोसेस एंटरेंस के आधार पर

दिल्ली यूनिवर्सिटी यूजी एडमिशन प्रोसेस ईसीए/स्पोर्ट्स कौटा के आधार पर

दिल्ली यूनिवर्सिटी पीजी एडमिशन का प्रोसेस

एसओएल और एनसीडबल्यूईबी की जानकारी

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जुड़े कुछ सवाल

दिल्ली यूनिवर्सिटी के बारे में जानें

दिल्ली विश्वविद्यालय जिसे ज्यादातर लोग डीयू या दिल्ली यूनिवर्सिटी भी कहते है। यह भारत के कुछ बेहतरीन विश्वविद्यालयों में से एक है। इसके नाम से ही पता चलता है कि ये भारत के कैपिटल यानि दिल्ली में है। अपनी बेहतरीन फैकल्टी, फैसिलिटी और काफी भिन्न तरह के कोर्स के कारण हर साल इस विश्वविद्यालय में भारत और विदेश से एडमिशन के लिए विद्यार्थियों की भीड़ लगती है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी की शुरुआत सबसे पहले सेंट स्टीफन कॉलेज (1881) से हुई और साथ-साथ हिन्दू कॉलेज (1899) और रामजस कॉलेज (1917) की भी शुरुआत हुई थी। आज दिल्ली विश्वविद्यालय के 77 कॉलेज है जहां 16 फ़ैकल्टी पढ़ाये जाते है और 86 डिपार्टमेन्ट है। नीचे हमने डीयू के हर एक कॉलेज और उनमें होने वाले कोर्स के बारे बताया है –

दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेज

नॉर्थ कैंपस कॉलेज

कॉलेज कोर्स करवाए जाते है
अदिति महाविद्यालय B.A, B.Com
दौलत राम कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
हिन्दू कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
हंसराज कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
इंद्रप्रष्थ कॉलेज फॉर विमन B.A, B.Sc, B.Com
किरोड़ी लाल कॉलेज B.A, B.Sc
मिरांडा हाउस B.A, B.Sc
रामजस कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
सेंट स्टीफन कॉलेज B.A, B.Sc
श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स B.A, B.Com
श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
स्वामी विवेकानंद कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com

वेस्ट कैंपस

कॉलेज कोर्स करवाए जाते है
भागिनी निवेदिता कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
भारती कॉलेज B.A., B.E. (Information Technology) and B.Com
भास्काचार्य कॉलेज ऑफ अप्लाईड साइंस B.Sc
दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
जानकी देवी मेमोरियल कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
कालिंदी कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
केशव महाविद्यालय B.A, B.Sc, B.Com
लक्ष्मीबाई कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
राधाबाई कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
सत्यवती कॉलेज B.A, B.Com
सत्यवती कॉलेज (इवनिंग) B.A, B.Com
शिवाजी कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
श्याम प्रसाद मुखर्जी कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
श्री गुरु गोविंद सिंह कॉलेज ऑफ कॉमर्स B.A, B.Sc, B.Com
इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल एज्यूकेशन और स्पोर्ट्स साइंस B.P.Ed and B.Sc
जानकी देवी मेमोरियल कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com

धौला कुआं कैंपस

कॉलेज कोर्स करवाए जाते है
आर्यभट्ट कॉलेज B.A, B.Com
आत्मा राम सनातन धर्म कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड कॉमर्स B.A, B.Com
जीजास और मैरी कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
मैत्रेयी कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
मोतीलाल नेहरू कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
मोतीलाल नेहरू कॉलेज (इवनिंग) B.A
राम लाल आनंद कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
श्री वेंकटेश्वर कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com

साउथ कैंपस

कॉलेज कोर्स करवाए जाते है
आचार्य नरेंद्र देव कॉलेज B.Com, B.Sc
कॉलेज ऑफ वोकेशनल स्टडी B.A, B.Sc, B.Com
देशबंधु कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
दयाल सिंह कॉलेज B.A, B.Sc
दयाल सिंह कॉलेज (इवनिंग) B.A, B.Com
गार्गी कॉलेज B.A, B.Sc., B.Com
इंस्टीट्यूट ऑफ होम इकॉनमी B.Sc
कमला नेहरू कॉलेज B.A, B.Com
लेडी श्री राम कॉलेज फॉर विमन B.A, B.Sc, B.Com
पीजीडीएवी कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
पीजीडीएवी कॉलेज (इवनिंग) B.A, B.Com
रामानुजन कॉलेज B.A, B.Com
राजधानी कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
राम लाल आनंद कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
श्री औरोबिंदो कॉलेज B.A, B.Sc., B.Com
श्री औरोबिंदो कॉलेज (इवनिंग) B.A, B.Com
शहीद भगत सिंह कॉलेज B.A, B.Com
शहीद भगत सिंह कॉलेज (इवनिंग) B.A, B.Com

ईस्ट कैंपस

कॉलेज कोर्स करवाए जाते है
डॉ॰ भीमराव अंबेडकर कॉलेज B.A, B.Com
शहीद राजगुरु कॉलेज ऑफ अप्लाइड साइंस फॉर विमन B.Sc.
शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडी BMS, B.Sc
महाराजा अग्रसेन कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
श्याम लाल कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
श्याम लाल कॉलेज (इवनिंग) B.a, B.Com
विवेकानंद कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
महर्षि वाल्मीकि कॉलेज ऑफ एज्यूकेशन B.Ed

सेंट्रल कैंपस

कॉलेज कोर्स करवाए जाते है
लेडी इरविन कॉलेज B.Sc.
माता सुंदरी कॉलेज फॉर विमन B.A, B.Sc, B.Com
श्री गुरु नानक देव खालसा कॉलेज B.A, B.Com
जाकिर हुसैन दिल्ली कॉलेज B.A, B.Sc, B.Com
जाकिर हुसैन दिल्ली कॉलेज (इवनिंग) B.A, B.Com
कॉलेज ऑफ आर्ट्स B.F.A

तो आईये अब बात करते हैं कि अगर आपको भी इन में से किसी भी कॉलेज फैकल्टी डिपार्टमेंट में एडमिशन लेना हो तो उसके लिए आपकी एलिजिबिलिटी क्या होनी चाहिए।

दिल्ली यूनिवर्सिटी में अप्लाई करने के लिए योग्यता

दिल्ली विश्वविद्यालय में एडमिशन के लिए अप्लाई करने के लिए एक विद्यार्थी को कम से कम 12वीं पास होना जरुरी है। आपको डीयू के कौनसे कोर्स में एडमिशन लेना है वो आपके 12वीं के विषय पर निर्भर करता है और इस पर भी निर्भर करता है कि आप किस कोर्स के लिए अप्लाई करना चाहते हैं।

डीयू एडमिशन ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म का प्रोसेस

आपको बता दें कि डीयू में स्टूडेंट्स अंडरग्रेजुएट कोर्स और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स दोनों के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इस विश्वविद्यालय के ज्यादातर यूजी कोर्स या पीजी कोर्स में 3 तरीकों से अप्लाई कर सकते हैं। मेरिट बेसिस पर, एंट्रेंस के बेसिस पर या स्पोर्ट्स कोटा से। इनमें से किसी भी कोर्स के एडमिशन के लिए सबसे पहले आपको एक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना होता है। नीचे दिए गए चित्र से आप समझ सकते हैं कि किस तरह से डीयू के कोर्स में एडमिशन हो सकता है –

किसी भी तरह के एडमिशन के लिए सबसे पहले आपको डीयू का एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना होगा। यह रजिस्ट्रेशन फॉर्म बोर्ड के एग्जाम के कुछ ही दिनों में दिल्ली विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर ऑनलाइन उपलब्ध हो जाता है। आप डीयू की वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं कि ये फॉर्म कब आएगा। जैसे ही ये फॉर्म ऑनलाइन उपलब्ध हो जायेगा वेबसाइट पर आपको कुछ ऐसा नोटिफिकेशन दिखने लगेगा –

स्रोत – डीयू की आधिकारिक वेबसाइट

ये नोटिफिकेशन 2018-2019 एडमिशन का है। 2019-2020 एडमिशन का नोटिफिकेशन अभी नहीं आया है। जैसे ही आप अंडरग्रेजुएट एडमिशन पोर्टल की लिंक को क्लिक करेंगे वो आपको एक नए पेज पर ले जायेगा जहाँ आपको सारी महत्वपूर्ण जानकारी के साथ-साथ पोर्टल पर जाने का भी लिंक दिया गया होगा जो कुछ ऐसा दिखेगा –

इस साल के एडमिशन का पोर्टल अभी नहीं आया है। जैसे ही इस साल के एडमिशन का प्रोसेस शुरू हो जायेगा आपको पोर्टल पर “न्यू रजिस्ट्रेशन” का ऑप्शन दिखने लगेगा। न्यू रजिस्ट्रेशन पर जाकर आप अपने फॉर्म को भर सकते हैं।

फॉर्म भरने से पहले उसी पेज पर कुछ महत्वपूर्ण निर्देश भी दिए गए होंगे जो कि पेमेंट और डाक्यूमेंट्स से जुड़े होंगे। इन निर्देशों को आप जरूर पढ़ें और उसके बाद ही फॉर्म भरना शुरू करें। एडमिशन पोर्टल का पेज कुछ इस तरीके का दिखेगा –

इस तस्वीर में आप देख सकते हैं कि एडमिशन फॉर्म में जो भी जरूरी डाक्यूमेंट्स, सर्टिफिकेट और जो भी जरुरी निदेश है वो दिए गए है।

ध्यान रहे ये फोटो 2018 के एडमिशन के हैं। 2019 के एडमिशन का पोर्टल अपडेटेड आएगा जहाँ न्यू रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन खुला होगा।

ऑनलाइन पंजीकरण के लिए ये स्टेप फॉलो करें –

स्टेप 1: उम्मीदवार को ऑनलाइन दिल्ली विश्वविद्यालय के पोर्टल पर जाकर “रजिस्टर हीयर” पर क्लिक करना होगा। रजिस्ट्रेशन के लिए आपसे आपकी कुछ व्यक्तिगत जानकारी के लिए जायेगा जैसे नाम, ईमेल आईडी, फ़ोन नंबर इत्यादि।

स्टेप 2: पंजीकरण करते ही एक कन्फ़र्मेशन लिंक आपकी ईमेल पर आ जाएगा, ईमेल खोलते ही उस लिंक पर जकार पंजीकरण को कन्फ़र्म करें।

स्टेप 3: अब आप फिर से ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर लॉगिन आईडी और पासवर्ड डालें जिससे लॉगिन हो जाएगा।

स्टेप 4: लॉगिन करने के बाद आपको अपनी कुछ जानकारी फॉर्म में भरनी होगी जो कुछ यह है –

  • बैंक की जानकारी (बैंक अकाउंट नंबर, आईएफ़एससी कोड इत्यादि।)
  • व्यक्तिगत जानकारी (लिंग, जन्म की तारीख, आधार कार्ड का नंबर इत्यादि।)
  • एकेडमिक जानकारी (12वीं कक्षा के रोल नंबर, पास करने का साल, परिणाम इत्यादि।)
  • मेरिट के आधार पर कोर्स का चयन (इसमें आप एक ही फॉर्म में बहुत सारे कोर्स चुन सकते है।)

हमारा सुझाव है कि आप ज्यादा से ज्यादा कोर्स के लिए अप्लाई कर दें। इससे आगे जब भी कट ऑफ आएगा आपके पास बहुत सारे अवसर उपलब्ध होंगे। कोर्स चुनते समय आप उन कोर्स के लिए योग्य हैं या नहीं ये भी जांच कर लें। इसकी जानकारी आपको कोर्स के पास बने हुए “I” आइकॉन से मिल जाएगी।

  • ये फ़ाइल अपलोड करें (सेल्फ अटेस्टेड क्लास X मार्कशीट, सेल्फ अटेस्टेड क्लास XII मार्कशीट, अगर उपलब्ध हो आदि।)
  • पंजीकरण की फीस।

स्टेप 5: अब आपको कुछ डॉक्युमेंट्स अपलोड करने होंगे, जैसे –

स्टेप 6: दस्तावेज़ अपलोड होते ही आप “सबमिट” बटन पर क्लिक कर सकते हैं। यहाँ आपको फॉर्म का एक प्रीव्यू नजर आयेगा जहाँ आप देख सकते हैं कि आपने क्या जानकारी भरी हैं। अगर फॉर्म में कोई बदलाव करना हो तो आप इसी स्टेप पर कर लें।

स्टेप 7: अगले स्टेप में आप एप्लीकेशन फॉर्म को सेव कर लें और फीस पेमेंट के लिए आगे बढ़ें। आपका रजिस्ट्रेशन तभी सफल माना जायेगा जब आपका पेमेंट प्रोसेस पूरा होगा।

स्टेप 8: एप्लीकेशन सबमिट करने के बाद आप उस एप्लीकेशन की एक कॉपी अपने डिवाइस में सेव कर सकते है। एप्लीकेशन सेव करने के लिए “प्रिंट कॉपी” पर क्लिक करें।

ध्यान रहे कि यह रजिस्ट्रेशन फीस आपको आपनी श्रेणी के अनुसार रजिस्ट्रेशन फीस आप क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/नेटबैंकिंग द्वारा कर सकते हैं। नीचे दी गयी लिस्ट में हमने श्रेणी अनुसार फीस के बारे में बताया है –

श्रेणी पंजीकरण फीस (रुपए)
यूआर/ओबीसी के लिए फीस 150 (रिफ़ंड नहीं होगी।)
एससी/एसटी/पीडबल्यूडी के लिए फीस 75 (रिफ़ंड नहीं होगी।)

आगे हम आपको बताएँगे कि कोर्स के अनुसार आप इन में से कौनसे प्रोसेस से एडमिशन ले सकते है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी अंडरग्रेज्युएट के एडमिशन का प्रोसेस मेरिट के अनुसार

दिल्ली यूनिवर्सिटी में अंडरग्रेजुएट करने के लिए आप अपने 12वीं के मार्क्स के आधार पर प्रवेश ले सकते हैं। ध्यान रहे मेरिट आधार पर एडमिशन लेने के लिए डीयू एक कट ऑफ निकालती है। इस विश्वविद्यालय का कट ऑफ एक विशेष परसेंटेज ऑफ़ मार्क्स होता है जिसको भिन्न क्राइटेरिया के आधार पर तय किया जाता है। ये कट ऑफ हर कॉलेज और अलग-अलग कोर्स की अलग होती है।

ज़्यादातर अंडरग्रेज्युएट कोर्स के लिए आपको डीयू की मेरिट लिस्ट में आना होगा। नीचे दी गयी लिस्ट में हमने दिल्ली विश्वविद्यालय के उन यूजी कोर्स के बारे में बात किया है जिनमें एडमिशन के लिए मेरिट में आने की जरूरत होती है –

दिल्ली यूनिवर्सिटी अंडरग्रेज्युएट कोर्स मेरिट के आधार पर

बीए सामान्य (10+2) पास कम से कम 40% अंकों के साथ।
वोकैशनल कोर्स
BA (Hons) फ्रेंस, जर्मन, इटालियन, और स्पेनिश कम से कम 45% अंकों के साथ एचएससी (10+2) की परीक्षा उत्तीर्ण की हुई होनी चाहिए।
अरबी, बंगाली, हिंदी, फारसी, पंजाबी, उर्दू, संस्कृत, हिंदी पत्राचार कम से कम 45% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की हो। या कुल विषय में 40% अंकों के साथ उत्तीर्ण और संबंधित विषय में 50% अंक।
जर्नलिज़्म कम से कम 45% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की और योग्यता परीक्षा में अंग्रेजी भाषा का अध्ययन किया हो।
B.Voc मुद्रण प्रौद्योगिकी, वेब डिजाइनिंग, स्वास्थ्य देखभाल प्रबंधन, खुदरा प्रबंधन और आईटी, बैंकिंग संचालन, सॉफ्टवेयर विकास। कम से कम 40% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की हो।
B.Com (Hons) कम से कम 45% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की हो। इसके अलावा, उम्मीदवार को योग्यता परीक्षा में गणित / व्यावसायिक गणित उत्तीर्ण होनी चाहिए।
B.Sc (Hons) सांख्यिकी, गणित गणित में कम से कम 45% अंकों और 50% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की हो।
बॉटनी, माइक्रोबायोलॉजी, जूलॉजी, एंथ्रोपोलॉजी, बायोलॉजिकल साइंसेज कम से कम 55% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की हो और न्यूनतम 50% अंकों के साथ अंग्रेजी उत्तीर्ण की हो।
भौतिकी, रसायन विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स, इंस्ट्रूमेंटेशन, पॉलिमर विज्ञान पीसीएम में न्यूनतम 55% अंक और एक अनिवार्य भाषा में 50% अंक होने चाहिए।
भौतिकी भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित / भूविज्ञान / जीव विज्ञान / जैव प्रौद्योगिकी / भूगोल में न्यूनतम 55% अंक और एक अनिवार्य भाषा में 50% अंक होने चाहिए।
खाद्य प्रौद्योगिकी भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित / जीव विज्ञान / जैव प्रौद्योगिकी में न्यूनतम 55% अंक और अंग्रेजी में 50% अंक होने चाहिए।
जीव रसायन रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान / जैव प्रौद्योगिकी, गणित / भौतिकी में न्यूनतम 55% अंक और एक अनिवार्य भाषा में 50% अंक होने चाहिए।
गणितीय विज्ञान कम से कम 40% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की होनी चाहिए।
भौतिक विज्ञान / अप्लाइड भौतिक विज्ञान भौतिकी, रसायन विज्ञान / कंप्यूटर विज्ञान, गणित में न्यूनतम 45% अंक और एक अनिवार्य भाषा में 40% अंक या अंग्रेजी भाषा में उत्तीर्ण होना जरूरी है।
जीवन विज्ञान / अप्लाइड जीवन विज्ञान फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी / बायोटेक्नोलॉजी में न्यूनतम 45% अंक और एक अनिवार्य भाषा में 40% अंक या अंग्रेजी भाषा में पास होना जरूरी है।
होम साइंस कम से कम 50% अंकों के साथ एचएससी (10 + 2) की परीक्षा उत्तीर्ण की हुई होनी चाहिए।
जैव चिकित्सा विज्ञान भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान / जैव प्रौद्योगिकी में न्यूनतम 55% अंक और अंग्रेजी भाषा में 50% अंक जरूरी है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी का एडमिशन का प्रोसेस

सबसे पहले अंडर ग्रेज्युएट अपनी पहली कट ऑफ लिस्ट जारी करेगी। आपको जिस किसी भी कोर्स के लिए अप्लाई करना है, उसके लिए आपको अपने 12वीं के सबसे अच्छे 4 विषय का परसेंटेज देना होगा। 4 का मतलब है 12वीं में दिये गए वो 4 विषय जिनके मार्क्स अच्छे आए हो। सबसे अच्छे विषयों के मार्क्स को कैलकुलेट करने का तरीका होता है –

  1. एक भाषा (कोर/इलेक्टिव/फंकशनल)
  2. वो विषय जिसमें एडमिशन लेना हो, जैसे अगर आपको बीएससी गणित में एडमिशन लेना है तो 12वीं में गणित ए अंक।
  3. इसके अलावा कोई भी दो एकेडमिक/इलेक्टिव विषय।

ये 4 सबसे अच्छे विषय आपको कोर्स के अनुसार चुनने होंगे, जिसकी पूरी जानकारी आपको डीयू की वेबसाइट पर जाकर उनके कोर्स और उनकी एलिजिबिलिटी से पता चल जाएगी। ज्यादातर कोर्स में एक भाषा और उस कोर्स से जोड़ा विषय जो 12वीं में था।

दिल्ली विश्वविद्यालय कट ऑफ आते ही आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर या दूसरे माध्यम से यानि समाचार पत्र या और भी वेबसाइट से पता चल जायेगा कि आपके सबसे अच्छे 4 विषय का परसेंटेज किस कॉलेज के कटऑफ की रेंज में आ रहा है।

दिल्ली विश्वविद्यालय – दस्तावेज़ (डॉक्युमेंट्स)

अब आप कट ऑफ के अनुसार जो भी आपके पसंद का कॉलेज और कोर्स है उसे चुन लें। अगला स्टेप होगा उस कॉलेज में जाकर अपने चुने हुए कोर्स के लिए अप्लाई करना। इस प्रोसेस में आपको कुछ जरुरी दस्तावेज़ चाहिए जिनकी ओरिजनल कॉपी आप एडमिशन के समय कॉलेज में जमा करेंगे जैसे –

  • 12वीं कक्षा का प्रोविज़न सर्टिफिकेट
  • 5-6 पासपोर्ट साइज के फोटो, सेल्फ अटेस्टेड
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • कक्षा 10वीं का बोर्ड परीक्षा का सर्टिफिकेट
  • स्कूल से चरित्र प्रमाण पत्र
  • कक्षा 12वीं की मार्क शीट
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म का प्रिंट आउट, जो आपने ऑनलाइन भरा है (इस फॉर्म में आपका रजिस्ट्रेशन नंबर होगा।)
  • अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र या एससी/एसटी/ओबीसी का प्रमाण पत्र।
  • एडमिशन फीस का डिमांड ड्राफ्ट।

ध्यान दें – वैसे तो इनके अलावा आपको किसी और डॉक्यूमेंट की जरुरत नहीं पड़ेगी फिर भी हमारा सुझाव है कि एडमिशन के लिए जाने से पहले आप कॉलेज की वेबसाइट पर जाकर एक बार नोटिफिकेशन जरूर पढ़ लें ताकि अगर कोई और भी डॉक्यूमेंट की जरुरत हो तो वो आप अपने साथ ले जाएं। एडमिशन के समय आपको इन सारे डाक्यूमेंट्स की ओरिजिनल कॉपी जमा करनी होगी। इसीलिए आप पहले ही इन दस्तावेजों की ज़ेरॉक्स कॉपी बना कर रख लें अपने पास रख लें ताकि कभी भी किसी और काम के लिए आपको इन डॉक्युमेंट्स की जरुरत पड़े तो आप ज़ेरॉक्स कॉपी काम में ले सकते है। एडमिशन के बाद आपको ये डॉक्युमेंट्स वापिस कर दिए जायेंगे।

डाक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन और फीस सबमिट होते ही आपका एडमिशन प्रोसेस पूरा हो जायेगा। अब कॉलेज शुरू होने की तारीख और बाकि सारी जानकारी आपको कॉलेज द्वारा मिल जाएगी।

दिल्ली यूनिवर्सिटी अंडरग्रेज्युएट एंट्रेस के आधार पर एडमिशन

दिल्ली यूनिवर्सिटी में एंट्रेंस के जरिये इन कुछ अंडरग्रेज्युएट कोर्स में एडमिशन लिया जा सकता है –

इन्स्टीट्यूशन का नाम कोर्स
फैकल्टी ऑफ़ एप्लाइड सोशल साइंसेज एंड ह्यूमनिटिज बीए (होनर्स) बिज़नेस इकोनॉमिक्स बैचलर ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडी। 

बैचलर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन (फाइनेंसियल इन्वेस्टमेंट एनालिसिस) 

क्लस्टर इनोवेशन सेंटर बीटेक (इन्फोर्मेशन टेक्नोलोजी एंड मैथेमेटिकल इनोवेशन)

बीए होनर्स (ह्यूमनिटीज़ और सोशल साइंस)

फ़ैकल्टी ऑफ एज्यूकेशन बैचलर्स ऑफ एलीमेंट्री एज्यूकेशन
फ़ैकल्टी ऑफ इंटरडिशप्लीनरी और अप्लाइड साइंस बैचलर्स ऑफ साइंस इन फिजिकल एज्यूकेशन, हेल्थ एज्यूकेशन और स्पोर्ट्स (बी.साइंस [पीई, एचई और एस])
इन्द्रप्रस्थ कॉलेज फॉर विमन बीए (होनर्स) मल्टिमीडिया और मास कम्यूनिकेशन
म्यूजिक एंड फाइन आर्ट्स बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (होनर्स) हिंदुस्तानी म्यूजिक- वोकल/इंस्ट्रुमेंटल (सितार/सरोद/गिटार/वायलिन/संतूर) में

बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (होनर्स) कर्नाटिक म्यूजिक वोकल/इंस्ट्रुमेंटल (वीणा/वायलिन) बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (होनर्स) परकशन म्यूजिक (तबला/पखावज) में।

फैकल्टी ऑफ सोशल साइंस दिल्ली स्कूल ऑफ जर्नलिज्म में पत्रकारिता में फाइव ईयर इंटेग्रेटेड प्रोग्राम।

एंट्रेंस के जरिये एडमिशन लेने के लिए भी आपको कुछ वही स्टेप फॉलो करने होंगे जो आप मेरिट लिस्ट के लिए करते है। ऊपर दिए गए स्टेप के स्टेप 5 तक आपको वही प्रोसेस करना होगा। इसके आगे आप नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करें।

स्टेप 6: अब आप रजिस्ट्रेशन प्रोसेस में आगे बढ़ें और अपने चॉइस का यूजी कोर्स सेलेक्ट करें जिसमें आप एडमिशन लेना चाहते हैं और एग्जामिनेशन सेंटर का चॉइस भी सेलेक्ट करें।

स्टेप 7: अगले स्टेप में आप एप्लीकेशन फॉर्म को सेव कर लें और फीस पेमेंट के लिए आगे बढ़ें। आपका रजिस्ट्रेशन तभी सफल माना जायेगा जब आपका पेमेंट प्रोसेस पूरा हो जायेगा।

ध्यान दें: अगर कोई उम्मीदवार एक से ज्यादा कोर्स के लिए एंट्रेंस देना चाह रहा है तो उस उम्मीदवार को अलग से फॉर्म भरना होगा और अलग से उस कोर्स की फीस भरनी होगी, मगर उस फॉर्म के लिए भी लॉगिन आईडी और पासवर्ड वही रहेगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय के यूजी कोर्स के एंट्रेस परीक्षा की फीस श्रेणी के अनुसार नीचे दी गयी है –

श्रेणी पंजीकरण फीस
ओबीसी/यूआर रुपए 500
एससी/एसटी/पीडबल्यूडी रुपए 250

दिल्ली यूनिवर्सिटी में अंडर ग्रेज्युएट स्पोर्ट्स/ईसीए कोटा के आधार पर

अगर आप हमेशा से खेलकूद या एक्स्ट्रा करीकुलर एक्टिविटीज (ईसीए) में रूचि रखते हैं और स्कूल, जिले, राज्य, राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इन दोनों में से किसी में कामयाबी पाते हैं तो आपके लिए डीयू में एडमिशन लेने का एक और रास्ता है स्पोर्ट्स/ईसीए कोटा।

डीयू अपने काफी कॉलेज में स्पोर्ट्स/ईसीए कोटा के जरिये एडमिशन करता है। डीयू के अंतर्गत जितने भी कॉलेज हैं वो अपने उपलब्धता के अनुसार अपने कॉलेज में ईसीए/स्पोर्ट्स कोटा से एडमिशन ले सकते हैं। चलिए अब बात करते हैं कि कैसे आप दिल्ली विश्वविद्यालय में ईसीए के जरिये एडमिशन ले सकते हैं।

ईसीए/स्पोर्ट्स कोटा में एडमिशन प्रोसेस

दिल्ली विश्वविद्यालय अपने कॉलेज में हर साल कुछ सीट एक्स्ट्रा करीकुलर एक्टिविटी और स्पोर्ट्स कोटा के लिए रखती है। सबसे पहले तो आपको बता दें कि इन कोटा में भी ईसीए/स्पोर्ट्स कोटा के जरिये भी एडमिशन के लिए आपको वही प्रोसेस फॉलो करना होता है जो आप एंट्रेंस या मेरिट पर आधारित एडमिशन के लिए करते हैं। आप मेरिट/एंट्रेंस पर आधारित एडमिशन प्रोसेस के स्टेप 4 तक वही प्रोसेस फॉलो करें। यहाँ क्लिक करके आप वो स्टेप दोबारा पढ़ सकते हैं।

ध्यान दें: क्योंकि अब आप ईसीए/स्पोर्ट्स कोटा से एडमिशन के लिए अप्लाई करना चाह रहे हैं तो आपको अब ईसीए/स्पोर्ट्स के सर्टिफिकेट भी अपलोड करना होगा। अब आगे स्टेप 7 तक आप वही प्रोसेस फॉलो करें ताकि आपका फॉर्म सफलतापूर्वक पूर्ण हो जाये।

स्पोर्ट्स/ईसीए कोटा से एडमिशन लेने के लिए आप जो सर्टिफिकेट अपलोड करेंगे उससे जुड़ी ये दो बातें जरूर ध्यान रखें –

  1. आपके सर्टिफिकेट, ऑनलाइन पंजीकरण की तारीख से 3 साल से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए नहीं तो योग्य नहीं माना जाएगा।
  2. आपके सर्टिफिकेट को एडमिशन के लिए फिट तभी माना जायेगा जब आपने किसी अंतर्राष्ट्रीय, राष्ट्रीय, राज्य, जोनल और स्कूल स्तर पर या तो कोई स्पोर्ट्स/ईसीए में जीता हो या पार्टिसिपेट किया हो।

भले आप स्पोर्ट्स कोटा से एडमिशन ले रहे हों या ईसीए से आपको दोनों की फीस रजिस्ट्रेशन के समय वही होगी। सिर्फ इन कोटा से ऑनलाइन फॉर्म भरने पर हर श्रेणी के स्टूडेंट्स को 100 रुपए अतिरिक्त भरने होते है। नीचे लिस्ट से आप पता कर सकते हैं कि आप अपनी श्रेणी के अनुसार कितना फीस भरेंगे। –

श्रेणी पंजीकरण की फीस
यूआर/ओबीसी रुपए 150 (रिफ़ंड नहीं होगा।)
एससी/पीडबल्यूडी/एसटी रुपए 75 (रिफ़ंड नहीं होगा।)
ईसीए/स्पोर्ट्स (प्रत्येक श्रेणी) रुपए 100 (वैकल्पिक, रिफ़ंड नहीं होगा।)
ईसीए से अंडर ग्रेज्युएट कोर्स में चयन प्रक्रिया

ईसीए के जरिये चयन प्रक्रिया में ये कुछ जरुरी पॉइंट्स हैं जिनका ध्यान रखें –

  1. सबसे पहले तो आपके पास ईसीए का वैध सर्टिफिकेट होना चाहिए।
  2. आपको सर्टिफिकेट के अलावा एक ट्रायल से भी होकर गुजरना होगा जो कि डीयू द्वारा करवाया जायेगा।
  3. डीयू आपके सर्टिफिकेट को 25% वेइटेज देती है और ट्रेल को 75% देती है।
  4. ट्रेल प्रीलिमिनरी और फाइनल लेवल पर कंडक्ट किया जायेगा।
  5. सभी कैंडिडेट्स को प्रीलिमिनरी ट्रायल में केवल एक बार पार्टिसिपेट करने का मौका मिलेगा।
  6. जो भी कैंडिडेट्स प्रीलिमिनरी लेवल पर क्वालीफाई करेंगे वही फाइनल लेवल में जायेंगे।
  7. ईसीए कोटा क्वालीफाई करने के लिए आपको कम से कम 50% तक मार्क्स सिक्योर करना होगा।
  8. जो भी आपकी ईसीए के बेसिस पर फाइनल मेरिट होगा वो आपके 12 के बेस्ट 4 के परसेंटेज के साथ जुड़ जायेगा और आपका एडमिशन उस फाइनल मेरिट पर होगा।
दिल्ली विश्वविद्यालय के एक्टिविटीज़ की लिस्ट ईसीए ट्रायल्स के लिए

ईसीए से एडमिशन लेने के लिए आपको इन एक्टिविटीज में से एक में सर्टिफाइड होना होगा –

  • डांस (इंडियन क्लासिकल/ वेस्टर्न/ इंडियन फोक/ कोरियोग्राफी )
  • एनसीसी
  • म्यूजिक वोकल (इंडियन क्लासिकल/ वेस्टर्न क्लासिकल/ इंडियन लाइट & फोक/ वेस्टर्न लाइट)
  • क्विज
  • क्रीएटिव राइटिंग (अंग्रेजी और हिन्दी)
  • डिजिटल मीडिया (स्टिल फोटोग्राफी/ एनीमेशन/ फिल्म मेकिंग )
  • म्यूजिक इंस्ट्रुमेंटल (इंडियन/ वेस्टर्न)
  • फाइन आर्ट्स (स्केचिंग & पेंटिंग/ स्कल्पचर)
  • थीयेटर
  • डिबेट (इंग्लिश & हिंदी)
  • एनसीसी
  • अल्पसंख्यक कॉलेजों के लिए डिविनिटी (माता सुंदरी कॉलेज के लिए, श्री गुरु गोबिंद सिंह कॉलेज ऑफ कॉमर्स, श्री गुरु नानक देव खालसा कॉलेज और श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज)
स्पोर्ट्स कोटा से अंडर ग्रेज्युएट में चयन प्रक्रिया

डीयू में स्पोर्ट्स कोटा से एडमिशन या तो डायरेक्ट हो सकता है या फिर स्पोर्ट्स ट्रायल के जरिये हो सकता है। डायरेक्ट एडमिशन के लिए आपको इन में से किसी फेडरेशन के साथ स्पोर्ट्स में कंट्री को रिप्रेजेंट किया होना जरुरी है –

  • अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) द्वारा ओलंपिक खेल
  • एशियाई ओलंपिक परिषद द्वारा एशियाई खेल
  • अंतर्राष्ट्रीय खेल संघों (ISF) द्वारा विश्व चैम्पियनशिप / विश्व कप
  • अंतर्राष्ट्रीय खेल महासंघों (ISF) द्वारा एशियाई चैंपियनशिप
  • राष्ट्रमंडल खेल संघों (CGF) द्वारा राष्ट्रमंडल खेल
  • दक्षिण एशियाई खेल परिषद (एसएएससी) द्वारा दक्षिण एशियाई खेल (एसएजी)
  • अंतर्राष्ट्रीय पैरालंपिक समिति (IPC) द्वारा पैरालिंपिक खेल

अगर आप इन में से किसी लीग में नहीं आते हैं तो आपको स्पोर्ट्स कोटा के लिए भी एक ट्रायल देना होगा। ट्रायल से सिलेक्शन का प्रोसेस कुछ इस तरीके का है –

  • डीयू स्पोर्ट्स सर्टिफिकेट को 40% वेइटेज देती है और उस स्पोर्ट्स ट्रायल के लिए 60% वेइटेज देती है।
  • स्पोर्ट्स ट्रायल में स्पोर्ट स्पेसिफिक फिटनेस सब में प्लेइंग एबिलिटी और फंडामेंटल स्किल्स होगी।
  • ईसीए की तरह ही इसमें भी आपको क्वालीफाई करने के लिए 50% मार्क्स की जरुरत होगी।
  • स्पोर्ट्स कोटा से अप्लाई करने के लिए आपके आयु की एलिजिबिलिटी भी बहुत महत्वपूर्ण है ताकि आप अपने कोर्स के अवधि में इंटर-यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स में पार्टिसिपेट कर सकें।
  • इसके अलावा उम्मीदवारों को पार्ट-टाइम या फुल-टाइम किसी भी जॉब में एम्प्लॉयड नहीं होना चाहिए।

नीचे हमने डीयू में होने वाली स्पोर्ट्स की लिस्ट और उनकी मार्किंग क्राइटेरिया बताई है-

टीम गेम्स: बॉल बैडमिंटन, बेसबॉल, बास्केटबॉल, क्रिकेट, फुटबॉल, हैंडबॉल, हॉकी, कबड्डी, खो-खो, कोर्फबॉल, नेटबॉल, सॉफ्टबॉल और वॉलीबॉल।

मार्किंग क्राइटेरिया किसी टीम गेम्स के लिए कुल (60 अंक)
फंडामेंटल स्किल्स 20 अंक
ट्रायल्स में परफ़ोर्मेंस 40 अंक

ड्यूल और कॉम्बैट स्पोर्ट्स: बैडमिंटन, बॉक्सिंग, फेंसिंग, जुडो, स्क्वाश, टेबल टेनिस, टायक्वोंडो, टेनिस और रेसलिंग।

मार्किंग क्राइटेरिया ड्यूल्स और कॉम्बैट स्पोर्ट्स के लिए कुल (60 अंक)
फंडामेंटल स्किल्स 10 अंक
ट्रायल्स में परफ़ोर्मेंस 50 अंक


इंडिविजुअल स्पोर्ट्स:
आर्चरी, एथलेटिक्स, बेस्ट फिजिक्स, चैस, डाइविंग, जिमनास्टिक्स, पावर-लिफ्टिंग, शूटिंग, स्विमिंग, वेट-लिफ्टिंग और योग।

मार्किंग क्राइटेरिया इंडिविजुअल स्पोर्ट्स के लिए कुल (60 अंक)
ट्रायल्स में परफ़ोर्मेंस 60 अंक

नोट: आप जब भी स्पोर्ट्स/ईसीए कोटा से एडमिशन के लिए जाएं तो अपने ऑनलाइन फॉर्म की प्रिंटेड कॉपी जरूर लेकर जाएं।

चलिए अब बात करते हैं के डीयू में पीजी कोर्स में एडमिशन कैसे लें।

दिल्ली यूनिवर्सिटी में पोस्ट ग्रेज्युएशन में एडमिशन

पीजी के लिए अप्लाई करने वाले स्टूडेंट्स को भी डीयू का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना होता है जो हमने ऊपर स्टेप्स में बताया है। वहां डिटेल्स भरते समय आपको पीजी एडमिशन के लिए अप्लाई करना होगा जो कि या तो आप मेरिट/डायरेक्ट बेसिस पर करोगे या फिर एंट्रेंस पर लोगे।

दिल्ली विश्वविद्यालय में पोस्ट ग्रेज्युएशन में एडमिशन लेने के दो तरीके हैं –

डायरेक्ट/मेरिट – डीयू में पीजी के एडमिशन के लिए 50% सीट्स डायरेक्टली उन स्टूडेंट्स से भरी जाती है जो पहले से डीयू के स्टूडेंट्स हैं। डीयू के अंडर आने वाले कॉलेज अपनी कटऑफ लिस्ट निकालेंगी जो कि स्टूडेंट्स की लास्ट अपीरियड एग्जाम के मार्क्स के अनुसार होगी। अगर आपके बैचलर्स एग्जाम का परिणाम मेरिट लिस्ट में आ गया और ध्यान रहे कि आपको दिल्ली यूनिवर्सिटी का ही स्टूडेंट होना जरुरी है, तो आपका भी सिलेक्शन डायरेक्ट हो सकता है। 

एंट्रेस –जो स्टूडेंट्स दिल्ली विश्वविद्यालय के अलावा किसी और यूनिवर्सिटी/कॉलेज से ग्रेज्युएट हैं उन्हें डीयू में पीजी कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। ये एग्जाम कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम होगा और हर कोर्स की अलग-अलग एलिजिबिलिटी के अनुसार आप एंट्रेंस के लिए डीयू ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म से ही अप्लाई कर सकते हैं।

पोस्ट ग्रेज्युशन कोर्स

दिल्ली विश्वविद्यालय से पीजी आप इन कोर्स में कर सकते हैं जो कि ज्यादातर 2 साल का होता है-

एलएलबी, एमएड, एमएससी, बीपीएड, एमपीएड, एमए, एमसीए, एमकॉम, और एम फिल और पीएचडी। इन सभी कोर्स की परीक्षाओं का पैटर्न और योग्यता के लिए यहाँ क्लिक करें।

पात्रता

दिल्ली यूनिवर्सिटी के पोस्ट ग्रेज्युएट कोर्स में अप्लाई करने के लिए आप में ये कुछ पात्रताएं होनी –

आयु सीमा – वैसे तो पीजी कोर्स के लिए कोई आयु सीमा नहीं है लेकिन मेडिकल काउंसिल ऑफ़ इंडिया (एमसीआई), ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई), बार काउंसिल ऑफ़ इंडिया (बीसीआई) नेशनल काउंसिल ऑफ़ टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) जैसे रेगुलेटरी बॉडी के लिए आयु सीमा बताई गयी होगी।

एज्यूकेशन क्वालिफ़िकेशन – रुचि रखने वाले उम्मीदवारों को पीजी कोर्स में अप्लाई करने के लिए उस कोर्स में यूजी डिग्री का होना जरुरी है। कोर्स की स्पेसिफिक एलिजिबिलिटी के लिए आप नीचे दिए गए पीडीऍफ़ को पढ़ सकते है। 

न्यूनतम अंक की अनिवार्यता – हर कोर्स की न्यूनतम क्वालीफाइंग अंक अलग-अलग होंगे। मगर अपने अंडर ग्रेज्युएशन का न्यूनतम सीजीपीए निकालने के लिए आप ये फार्मूला अपना सकते हैं –

अंकों का अंतिम प्रतिशत = 6 सेमेस्टर का सीजीपीए x 9.5

डीयू पीजी एडमिशन की केटेगरी के अनुसार फीस नीचे दी गयी है –

श्रेणी पंजीकरण की फीस
ओबीसी/यूआर/अन्य कोई भी श्रेणी रुपए 500
एससी/एसटी/पीडबल्यूडी रुपए 250

एसओएल और एनसीडबल्यूईबी का एडमिशन

इनके अलावा डीयू के स्कूल ऑफ़ ओपन लर्निंग (एसओएल) और नॉन कॉलेजिएट विमन एजुकेशन बोर्ड (एनसीडबल्यूईबी) में भी पीजी कोर्स दिए जाते हैं जैसे –

एसओएल कोर्स

एम॰ ए॰ (हिन्दी)
एम॰ ए॰ (इतिहास) सेमेस्टर
एम॰ ए॰ (पीएस) सेमेस्टर
एम॰ ए॰ (संस्कृत) सेमेस्टर
एम॰ कॉम सेमेस्टर

एनसीडबल्यूईबी के कोर्स

एम॰ ए॰/एम॰ साइंस गणित

एम॰ ए॰ अरेबिक

एम॰ ए॰ बंगाली

एम॰ ए॰ अंग्रेजी

एम॰ ए॰ हिन्दी

एम॰ ए॰ इतिहास

एम॰ ए॰ फारसी

एम॰ ए॰ फिलोशपी

एम॰ ए॰ राजनीतिक विज्ञान

एम॰ ए॰ पंजाबी

एम॰ ए॰ संस्कृत

एनसीडबल्यूईबी में केवल महिलाओं को एडमिशन मिलता है और एडमिशन के लिए भी आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा, जिसकी पूरी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

एसओएल उन स्टूडेंट्स के लिए हैं जो डीयू से डिस्टेंस लर्निंग से कोई कोर्स करना चाहते हैं। एसओएल के जरिये भी आप आर्ट्स/ह्यूमनीटीज़ और कॉमर्स में यूजी एंड पीजी कोर्स कर सकते हैं। इन कोर्स के लिए स्टडी मटेरियल आपको एसओएल द्वारा मेल के जरिये मिलेगा। एसओएल के प्रोसेस से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए आप यहाँ क्लिक करें।

नोट – डीयू के एनसीडबल्यूईबी में एडमिशन केवल उन्हीं महिलाओं को मिलेगा जो एनसीटी दिल्ली (नेशनल कैपिटल टेरिटरी) के रहने वाले होंगे। इसीलिए इस एग्जाम के फॉर्म को भरते समय आपको रेजिडेंशियल प्रूफ भी अपलोड करना होगा।

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जुड़ी कुछ और जरूरी बातें

  1. डीयू के कॉलेज में सीट्स के अनुसार कई बार कट-ऑफ निकलते हैं। किसी भी कॉलेज में कितने कट-ऑफ आएंगे ये फिक्स्ड नहीं है। इसलिए एडमिशन प्रोसेस शुरू होने के बाद डीयू की ऑफिसियल वेबसाइट और न्यूजपेपर में डीयू से जुड़ा न्यूज़ हमेशा चेक करते रहे।
  2. जब भी आप एडमिशन लेने किसी कॉलेज में जाएँ, अपना सारा ओरिजिनल डॉक्यूमेंट तैयार रखें ताकि उस वक़्त किसी भी कारण से एडमिशन में रुकावट न आयें।
  3. एडमिशन के टाइम कॉलेज काउंटर पर आपने जो ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरा था उसकी एक कॉपी जरूर लेकर जाएँ।
  4. आप एक बार अगर किसी कॉलेज में एडमिशन के लिए डाक्यूमेंट्स दे देते हैं तह भी अगर आपका किसी और कॉलेज का कट-ऑफ भी क्लियर हो जाये, तो आप उस दूसरे कॉलेज में एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। दूसरे कॉलेज में एडमिशन के लिए पहले बात कर लें और उनसे एडमिशन के लिए रिसीप्ट ले लें। उसके बाद ही आप पहले कॉलेज से अपना ओरिजिनल डॉक्यूमेंट लें।
  5. अगर आप किसी श्रेणी में आते हैं जैसे एससी/एसटी/ईसीए/स्पोर्ट्स कोटा तो अपना सर्टिफिकेट जरूर तैयार रखें।
  6. अगर आप अपने 12वीं के रिलेटेड स्ट्रीम से हटकर किसी और स्ट्रीम के कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आप ले सकते हैं। सिर्फ इस केस में आपके बेस्ट 4 विषयों के परसेंटेज से 2% मार्क्स कट हो जायेंगे। (पहले ये 5% कट हुआ करता था जो 2019-20 के सेशन में 2% पर कर दिया गया है।)
  7. दिल्ली विश्वविद्यालय के अंतर्गत दो कॉलेज आते हैं – 1 सेंट स्टीफेंस और दूसरा जीसस एंड मैरी कॉलेज, जहाँ आप डीयू के जनरल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म को भर के एडमिशन नहीं ले सकते हैं। इन कॉलेज के अपने फॉर्म आते हैं जो आपको उनकी ऑफिसियल वेबसाइट पर मिल जाएँगे। इन दोनों कॉलेज में क्रिश्चियन के लिए अलग से रिजर्वेशन भी होता है जो कि करीब 50% तक है।
  8. इस बात का भी ध्यान रखें कि हर कट-ऑफ के बाद एडमिशन के लिए 3 दिन मिलता है। 3 दिन के अंदर आप अपने सारे डाक्यूमेंट्स और फीस का काम पूरा कर लें।

इस आर्टिकल में हमने दिल्ली यूनिवर्सिटी के एडमिशन से जुड़ी हर जानकारी देने की कोशिश की है। हमें उम्मीद है कि डीयू एडमिशन से जुड़े आपके हर सवाल का जवाब मिल गया होगा। लेकिन अभी भी अगर एडमिशन से जुड़ा कोई भी सवाल या संदेह है तो नीचे कमेंट करके हमसे जरूर पूछें।

जन्म से ही क्रिकेट का दीवाना हूँ लेकिन क्रिकेटर बन नहीं सका और अब विकिपीडियन बनकर खिलाड़ियों पर लिखना शौक बना दिया है।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here