करियर

कैसे सीख सकते है ऐप डेवलपिंग और कर सकते है अच्छी कमाई ?

जैसा कि आप जानते ही हैं कि आज का ज़माना इंटरनेट का ज़माना है तो सारी जानकारी इंटरनेट पर मिल जाती है. साथ ही इसमें एप्प भी शामिल है जिस पर आप आसानी से जानकारी पा सकते है. लोगों की डिमांड मुख्य रूप से युवाओं की अब कुछ ज्यादा ही देखने को मिल रही है कि वो खुद ऐप डेवलपर कैसे बनें और दूसरों की मदद और अपने फायदों के लिए कैसे ऐप बनाएं.

आप नीचे दिए टॉपिक पर जाकर आसानी से पढ़ सकते है

ऐप डेवलपमेंट की सामान्य जानकारी ?
किन तरीकों से सीख सकते है ऐप डवलपिंग
किन तरीकों से आप मोबाइल ऐप या सॉफ्टवेयर बना सकते है ?

ऐप डवलपमेंट की सामान्य जानकारी ?

ऐप डवलपमेंट क्या है ?

इसमें सबसे पहले आपको यह जानना जरूरी होता है कि आखिर ऐप डवलपमेंट क्या है और यह क्यों सीखना चाहिए. साथ ही यह भी जानना चाहिए कि यह कितने प्रकार के होते है. तो जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि ऐप डवलपमेंट वह होता है जिसमें एंड्रॉइड, आईओएस जैसे प्लेटफ़ॉर्म के लिए ऐप तैयार किये जाते है. यही ऐप हम गूगल प्ले स्टोर या आईट्यून्स से डाउनलोड करते है.

अगर दूसरी परिभाषा में आपको बताएं तो ऐप डवलपमेंट वह कार्य या प्रक्रिया है जिसके द्वारा मोबाइल डिवाइस के लिए ऐप बनाये जाते है जो कई प्रकार के होते है.

वहीं आपको बता दें कि सॉफ्टवेयर डेवलपिंग में औपचारिक प्रशिक्षण और शिक्षा प्राप्त करना वास्तव में आवश्यक है। इसके लिए आप कंप्यूटर विज्ञान और सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में डिग्री कर सकते है, क्योंकि यह आपको डेटा स्ट्रक्चर, डिजाइनिंग और प्रोग्रामिंग की महत्वपूर्ण अवधारणाओं को समझने में जानकारी मिलती है। लेकिन यदि आपने ग्रेजुएशन पूरा कर दिया है और अभी भी नहीं सीख पायें है तो आप ऑनलाइन कोर्स भी कर सकते है। कई वेब प्लेटफ़ॉर्म हैं जो विशेष रूप से ऐप डेवलपमेंट में ऑनलाइन पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं।

प्लेटफ़ॉर्म चुन लें

फिर बात आती है कि आप किस प्लेटफ़ॉर्म के लिए ऐप बनाने चाहते या डेवलपर बनना चाहते है क्योंकि कई सारे प्लेटफ़ॉर्म है जैसे एंड्राइड, आईओएस, विंडोज, सिम्बियन तथा ब्लैकबेरी. लेकिन इसमें सबसे अच्छा प्लेटफ़ॉर्म तो एंड्राइड ही है. तो आप अपने अनुसार कोई भी एक चुन सकते है.

किसलिए बनना चाहिए ऐप डेवलपर

यह सवाल काफी अलग है कि आप ऐप डेवलपर क्यों बनना चाहते है. साथ ही इसका जवाब हमारे पास नहीं बल्कि आप खुद के पास है लेकिन कुछ जरूर बता सकते है कि आखिर लोग ऐप डेवलपर बनना पसंद करते है. तो इसके दो जवाब हो सकते है जिसमें पहला यह है कि आप इसमें अपना करियर बनाना चाहते है अर्थात पैसे कमाना चाहते है. जबकि दूसरा जवाब यह है कि कुछ लोग दूसरों के लिए जानकारी प्रदान करने के लिए भी, कहें तो शौक के लिए भी कई लोग डेवलपर बनते है और भिन्न प्रकार के ऐप बनाते है.

इस प्रकार ऐप डेवलपर बनने के ये अच्छे फायदे है क्योंकि इसमें आप अपना करियर बना सकते है और अच्छी कमाई भी कर सकते है. कमाई की बात करें तो अगर आप किसी कंपनी में जॉब करते है तो आपको 40 हजार से लेकर 60-70 हजार हर महीने आसानी से कमा सकते है. हालाँकि आपको इससे ज्यादा भी सैलरी मिल सकती है अगर आपको अनुभव हो तो. आज इस फील्ड में काफी जरुरत रहती है और खूब कमाई भी की जा सकती है.

कितने प्रकार की होती है ऐप

इस सवाल का जवाब देना थोड़ा कठिन है कि ऐप कितने प्रकार के होते है क्योंकि आज अनगिनत प्रकार के ऐप होते है और उनकी अच्छी खासी मांग भी होती है. लेकिन इसमें कुछ ऐप जो ज्यादा प्रयोग किये जाते है उसमें गेम, ऑनलाइन शॉपिंग ऐप, ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी तथा एजुकेशनल ऐप जैसे इत्यादि प्रकार के होते है. इस प्रकार अगर आप भी ऐप डवलपिंग सीख जाते है तो इस प्रकार के ऐप बना सकते है.

गेम ऐप

गेम ऐप जिनकी आज काफी डिमांड रहती है. प्ले स्टोर कहें या आई ट्यून्स वहाँ बहुत सारे गेम्स अपलोड किये जाते है. ये एप्स पैड भी होते है अर्थात इसमें अलग से पैसे भी लिए जाते है. डेवलपर बनकर हम भी खुद गेम बनाकर लोगों तक पहुँचा सकते है.

ऑनलाइन शॉपिंग ऐप

ऑनलाइन शॉपिंग ऐप के बारे में आपको भी अच्छी खासी जानकारी होगी और इसका प्रयोग किया होगा. अगर आप डेवलपर बन जाते है तो किसी कंपनी विशेष के लिए ऐसे ऐप भी बना सकते है. ये एप्स इस कारण बनवाये जाते है ताकि ग्राहक ऑनलाइन ही सामान का ऑर्डर करवा दें.

ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी के ऐप

पिछले कुछ सालों से ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी के ऐप भी काफी यूज किये जा रहे है. हालाँकि कई ऐसी छोटी कंपनी या होटल वाले अपने ऐसे ही ऐप बनवाना चाहते है लेकिन ज्यादा कोस्ट होने के कारण नहीं बनवाते है लेकिन जो नए-नए डेवलपर होते है वो बना सकते है और उसमें अच्छा अनुभव और पैसा मिल सकता है. ऐसे एप्स में खाना ऑर्डर किया जाता है.

एजुकेशनल ऐप

एजुकेशनल एप्स जो विद्यार्थियों के लिए काफी उपयोगी होते है और आज नए डेवलपर ऐसे ऐप बनाकर अपना भविष्य बना रहे है तो औरों के लिए अच्छी जानकारी दे रहे है. इसमें सामान्य ज्ञान, किताबों के तथा कई अन्य प्रकार के ऐप आते है.

किस-किस तरह से सीख सकते है ऐप डवलपिंग

अब दूसरा प्रश्न लोगों के मन में यह रहता है कि यहाँ तक तो ठीक है कि ऐप डेवलपर बनने से अच्छे पैसे कमा सकते है और अच्छी जॉब भी मिल जाती है लेकिन यह भी जानना जरूरी है कि डवलपिंग सीखी कैसे जाती है. इसके बारे में अगर हम बात करें तो ऐप डवलपिंग ऑनलाइन कोर्स द्वारा और किसी इंस्टीट्यूट से कोर्स करके सीख सकते है.

ऑनलाइन है अच्छा अवसर

आजकल ज्यादातर लोग यही चाहते है कि ऑनलाइन तरीके से ही ऐप डवलपिंग का कोर्स करके उसे सीख लिया जाए. काफी हद तक सही भी है क्योंकि इसमें कहीं गए बिना ही घर बैठे सीख सकते है. दुनियाभर में ऑनलाइन कोर्स सिखाने की अनगिनत संख्या में वेबसाइटें है और कई यूट्यूबर अपने चैनल द्वारा यह कोर्स सिखाते है. इसमें यूट्यूब वाले ज्यादातर फ्री में ही कोर्स सिखाते है और वेबसाईट वाले जरूर फीस लेते है.

यहाँ से सीख सकते है ऑनलाइन डेवलपिंग

ये कुछ बहुत बड़ी वेबसाइटें है जहाँ आसान तरीकों से सीखाया गया है कि आप कैसे एंड्राइड डेवलपर बन सकते है. हालाँकि इसमें आपको फीस भरनी होती है तब जाकर आपको एक्सेस मिलता है.

ऑफलाइन (इंस्टीट्यूट से कोर्स करके)

ऐप डेवलपिंग सीखने का दूसरा तरीका है ऑफलाइन अर्थात किसी इंस्टीट्यूट में जाकर कोर्स करना. हालाँकि ऐसा करने पर अच्छी खासी फीस भरनी पड़ती है इस कारण जिन लोगों को आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ रहा है उन्हें ऑनलाइन ही सीखना चाहिए ताकि कम पैसों में काम हो जाए. इस प्रकार आप ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से ऐप डवलपिंग का कोर्स कर सकते है. इसके बाद आप किसी कंपनी में जॉब के लिए भी अप्लाई कर सकते है या खुद बिना नौकरी करे हुए भी ऐप बनाकर इंटरनेट पर अपलोड कर सकते है.

कुछ संस्थान जहाँ इसके कोर्स करवाए जाते है

यहाँ हमने नीचे कुछ संस्थानों के नाम दिए है जहाँ पर आप ऐप डेवलपिंग का कोर्स कर सकते है.

इंटर्नशिप के लिए अप्लाई करें

ऑनलाइन तथा किसी इंस्टीट्यूट के बाद एक और विकल्प है इंटर्नशिप. जी हाँ, अगर आपको अच्छा खासा ऐप डेवलपिंग का नॉलेज है तो आप किसी कंपनी में इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर सकते है. इसमें आपको काफी कुछ सीखने को मिलता है और साथ ही कुछ पैसे भी मिल सकते है. इस कारण आप यह विकल्प भी चुन सकते है.

खुद प्रयास करें

इस प्रकार जब आप ऑनलाइन या ऑफलाइन कोर्स करते है तो साथ में खुद ही प्रयास करना चाहिए ऐप बनाने की. जी हाँ, खुद प्रैक्टिस करना बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है अगर आप डेवलपर बनना चाहते है तो क्योंकि जो-जो आप सीखते जाते है उसके आधार पर ऐप बनानी शुरू कर देनी चाहिए जिससे आपका हौशला बढेगा और जल्द ही सब कुछ सीख जायेंगे.

कोर्स में आपको क्या सिखाया जाता है ?

ऐप डवलपिंग के कोर्स में आपको काफी सारे टॉपिक पर जानकारी दी जाती है या कहें तो सिखाया जाता है जिसके बाद आप ऐप बनाते है. अब हम आपको यह बताएँगे कि आखिर इसमें क्या-क्या सिखाया जाता है, कौनसी लैंग्वेज सिखाई जाती है, कैसे ऐप बनाया जाता है और वो कहाँ बनाया जाता है इत्यादि के बारे में.

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज

एंड्रॉइड डवलपर बनने के लिए सबसे पहले आपको प्रोग्रामिंग की लैंग्वेज सीखनी जरूरी होती है क्योंकि जब तक आप प्रोग्रामिंग की लैंग्वेज नहीं सीख पायेंगे तब तक अच्छा ऐप नहीं बना पायेंगे. इस कारण एक ऐप डवलपर बनने के लिए आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखनी जरूरी है अगर एंड्रॉइड स्टूडियो में ऐप बनानी है तो.

तो आइये जानते है इसमें कौन-कौनसी लैंग्वेज सीखनी पड़ती है

  1. जावा लैंग्वेज: जानकारी के लिए आपको बता दें कि जावा लैंग्वेज जो कि एंड्रॉइड की सबसे इम्पोर्टेंट लैंग्वेज है क्योंकि पूरा एंड्रॉइड इसी लैंग्वेज पर ही आधारित है इसके बिना कुछ नहीं होता है. हालांकि आपका एक भ्रम दूर कर दें कि जावा कोई एक प्रकार की नहीं होती बल्कि बहुत टाईप की होती है लेकिन अगर एंड्रॉइड डवलपर ही बनना है तो इसमें कोर जावा (Core Java) सीख सकते है लेकिन अगर एडवांस जावा सीख जाते है तो यह बहुत काम आती है.
  2. Html, php और CSS: जावा लैंग्वेज के बाद दूसरी सबसे बड़ी लैंग्वेज है html, php और CSS. हालांकि इनका ज्यादातर काम वेबसाइट बनाने में होता है लेकिन ऐप बनाने में भी इसका काम पड़ता है तो यह लैंग्वेज भी सीखनी चाहिए ताकि ऐप अच्छा और बन सकें.
  3. जावा स्क्रिप्ट: तीसरी भाषा है जावा स्क्रिप्ट. हालाँकि इसका भी ज्यादातर काम तो वेबसाइट बनाने में होता है लेकिन अगर सीख जाते है तो ऐप बनाने में भी इसका काम पड़ सकता है.
  4. SQL: अगर हम इसके पूरे नाम के बारे में आपको बताएं तो इसका मतलब होता है Structure query language. बता दें कि यह लैंग्वेज जो डेटाबेस में काम आती है. तो इसमें बाद साफ़ है कि अगर आप ऐसी ऐप बनाने जा रहे है जिसमें या तो आप यूजर के डेटा लेते है या आपका डेटा यूजर लेते है तो आपको यह लैंग्वेज सीखनी ही पड़ेगी.
  5. Kotlin: यह लैंग्वेज नई-नई है. इसे पहली बार साल 2011 में किया गया था. साथ ही यह कहा जाता है कि इसमें और जावा लैंग्वेज में ज्यादा फर्क नहीं है. तो यह भी सीखी जा सकती है. इस प्रकार डेवलपिंग के कोर्स में आपको ये लैंग्वेज सिखाई जाती है जिसके बाद ऐप बनाते है.
  6. एंड्रॉइड स्टूडियो: इन लैंग्वेज के अलावा आपको इसमें एंड्रॉइड स्टूडियो सिखाया जाता है जिसमें आप ऐप बनायेंगे. जैसा कि आपको भी पता होगा कि एंड्रॉइड ऐप बनाने में “Android Studio” सबसे बड़ा सॉफ्टवेयर है या कहें तो माध्यम है जहाँ ऐप्लिकेशन बनाई जाती है. हालाँकि इसको सीखने में थोड़ी मेहनत करनी पड़ती है क्योंकि इसमें सभी कोडिंग होती है. और यह कोडिंग आप ऊपर दी गयी लैंग्वेज में सीख जायेंगे.

लैंग्वेज सीखने के बाद एंड्रॉइड ऐप किस-किस प्रकार से बना सकते है ?

यहाँ तक तो ठीक है कि आपको विभिन्न प्रकार की लैंग्वेज सिखाई जायेगी लेकिन अब बात आती है कि हम यह लैंग्वेज सीखने के बाद ऐप कैसे बना सकते है. एक बात हमने आपको ऊपर भी बताई है कि आप लैंग्वेज सीखने के बाद “Android Studio” की मदद बना सकते है. यह सॉफ्टवेयर जो गूगल का ही है इस कारण विश्वसनीय सॉफ्टवेयर है और इसमें लगभग सभी प्रकार के ऐप बना सकते है.

एंड्रॉइड स्टूडियो

सबसे पहले आपको बता दें कि आज दुनिया में सबसे अच्छा ऐप बनाने का प्लेटफ़ॉर्म “एंड्रॉइड स्टूडियो” जिसमें आप किसी भी प्रकार के ऐप बना सकते है. इसके लिए आपको सबसे पहले एंड्रॉइड स्टूडियो का यह सॉफ्टवेयर डाउनलोड करना होता है जिसके बाद उसे अपने लैपटॉप या डेस्कटॉप पर इंस्टॉल करना होता है. इसमें काफी सारी बातों का भी ध्यान रखना होता है, जैसे यह हम Windows, Mac, Linux Operating system में इंस्टॉल करते है तो उससे पहले आपको अपने ऑपरेटिंग सिस्टम के हिसाब से Configuration Match होना जरूरी है तो सबसे पहले अपने लैपटॉप के Operating System के हिसाब से Configuration चेक कर लें और उसके बाद ही डाउनलोड करके इंस्टॉल करें ताकि कोई परेशानी न हो.

आप यहाँ नीचे दी गयी लिंक पर जाकर वीडियो की मदद से भी एंड्रॉइड स्टूडियो सीख सकते है. ये सभी प्लेलिस्ट है जिसमें कई वीडियो दिए गए है जिसमें बड़ी आसानी से एंड्रॉइड स्टूडियो को सीखा जा सकता है.

  1. ProgrammingKnowledge
  2. Anand Singh Baghel
  3. Andro Java Tech4U

खैर यह तो क्लियर हो गया कि आप एंड्रॉइड स्टूडियो से ऐप बना सकते है हालाँकि यह दिए गए वीडियो या किसी इंस्टीट्यूट से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखनी पड़ेगी तब जाकर इसमें सफलता मिलती है. अब बात करते है कि एंड्रॉइड स्टूडियो के अलावा आप किस प्रकार से एप्लीकेशन बना सकते है.

ड्रैग एंड ड्रॉप

एंड्रॉइड स्टूडियो के बाद अब बात है ड्रैग एंड ड्रॉप की. बता दें कि आज वर्तमान समय में इस तरह से काफी ज्यादा एप्स बनाई जा रही है और लोग खूब पैसे भी कमा रहे है. इस तरह की ऐप में कोडिंग नहीं होती बल्कि उन्हें सिर्फ ड्रैग एंड ड्रॉप ही करना होता है जो कि ज्यादा सरल तो नहीं है और न ही ज्यादा कठिन, लेकिन यह आप ऑनलाइन ही सीख पायेंगे.

इसमें कैसे बना पायेंगे ऐप बिना नॉलेज के

हालाँकि ड्रैग एंड ड्रॉप के लिए कोई ऐसा इंस्टीट्यूट तो नहीं है जहाँ पर सिखाया जाए किंतु यूट्यूब पर इसके बारे में पूरी जानकारी दी गयी है कि किस तरह से सीखना है. एंड्रॉइड स्टूडियो की भांति इसमें भी लगभग सब प्रकार के ऐप बनाये जा सकते है और वो भी बिना किसी कोडिंग की.

ये ऐप बनायेंगे कहाँ

जैसा कि एंड्रॉइड ऐप बनाने के लिए तो गूगल ने “Anroid Studio” का सॉफ्टवेयर दिया है जिसकी मदद से भिन्न प्रकार के ऐप बनाये जा सकते है. लेकिन अब बताते है कि ड्रैग एंड ड्रॉप में एप्लीकेशन कहाँ पर बनाये जा सकते है. तो जानकारी के लिए आपको बता दें कि ड्रैग एंड ड्रॉप के लिए आज कई वेबसाइटें है जहाँ आसानी से मनपसंद ऐप बनाये जा सकते है.

कुछ लोकप्रिय वेबसाइटें जहाँ आप बना सकते है ऐप

  1. Kodular
  2. AppyBuilder
  3. Thunkable

इन ऊपर दिए गए लिंक पर जाकर आप चाहे तो अपने मोबाइल से भी ऐप बना सकते है लेकिन थोड़ी कठिनाई का सामना करना पड़ेगा क्योंकि डेस्कटॉप में फुल साइज में सब कुछ देखने को मिलता है लेकिन मोबाइल से सब छोटा-छोटा. साथ ही हम आपको यहाँ नीचे कुछ यूट्यूब की लिंक दे रहे है जहाँ जाकर आप आसानी से काफी कुछ सीख सकते है. ये कुछ यूट्यूब की प्लेलिस्ट है जिसमें काफी सरल तरीके से कोडुलर, एपीबिल्डर और थनकेबल सिखाया गया है.

यहाँ नीचे कुछ यूट्यूब की लिंक दी गयी है जिसमें आपको बहुत सारी जानकारी मिल सकती है

  1. My Smart Class
  2. TechGuru Vinod
  3. Shahrukh Abedin
  4. My Smart Class

साधारण एप्स भी बना सकते है

एंड्रॉइड स्टूडियो और ड्रैग एंड ड्रॉप के अलावा कई सारे वेबसाइट और एप्लीकेशन है जहाँ से बेहद ही साधारण तरीके से एप्स बनाये जा सकते है. हालांकि इन तरीकों से ये एप्स काफी सिम्पल होते है और न ही ज्यादा किसी के काम के है. हालाँकि कुछ ऐसी भी साइटें है जिसमें कुछ अच्छी एप्स भी सरल तरीके से बनाई जा सकती है.

दरअसल इनमें होता क्या है कि ज्यादातर में तो आपकी वेबसाईट या ब्लॉग की लिंक मांगी जाती है जिसका सिम्पल सा ऐप बनकर तैयार हो जाता है. तो कुछ ऐसी भी साइटें है जिसमें अच्छी डिजाईन करी जा सकती है लेकिन उसमें जिससे यह ऐप बना रहे है उसके ऐड भी दिखने लगते है. आप नीचे दी गई कुछ लिंकों पर जाकर आसानी से ऐप बना सकते है लेकिन ये बिलकुल सिम्पल ऐप होंगे.

  1. Appsgeyser
  2. Swiftic
  3. Andromo
  4. APK Creator (एंड्रॉइड ऐप)

इस प्रकार हमने कोशिश यही करी है कि आपको ज्यादा से ज्यादा जानकारी दें कि किस-किस तरह से आप ऐप डेवलपिंग सीख सकते है. अगर कुछ बातें समझ नहीं आयी हो तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते है जिसकी रिप्लाई करने की पूरी कोशिश करेंगे.

जन्म से ही क्रिकेट का दीवाना हूँ लेकिन क्रिकेटर बन नहीं सका और अब विकिपीडियन बनकर खिलाड़ियों पर लिखना शौक बना दिया है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here