Chat with us, powered by LiveChat

Andha होना आपके Talent की पहचान नहीं

Delhi | September 2018

Kamal Kumar

Teacher, IIMC

Kamal Kumar

Teacher, IIMC

बारे में:

अगर आप का भविष्य कोई और decide करे तो आप को कैसा लगेगा ? अगर आपको कोई आपके सपनो और talent के विरूद्ध ज़िन्दगी जीने को बोले तो आप क्या करेंगे? कमल कुमार की विकलांगता से success के शिखर तक की कुछ ऐसी ही कहानी है जो courage, talent और passion दर्शाती है| यह साहस वह शक्ति है जिसके आगे विशाल पर्वत भी तिनके समान साबित होता है | जानिये कैसे कमल कुमार ने अपनी (disability) दृष्टिहीनता को अपनी success के रास्ते में नहीं आने दिया| जिन्होंने अपनी विकलांगता को अपनी कमजोरी नहीं माना और असंभव को संभव कर दिखाया। लोगों ने कई बार उन्हें उनकी disability याद दिलाने की कोशिश करी, उन्हें बार बार स्मरन कराया की वो Andha है तो उन्हें सपने देखने का भी कोई अधिकार नहीं | जन्म से इस दृष्टिहीनता से जूझने वाले कमल कुमार के पास हौसले की कोई कमी नहीं है| कमल जन्म से Andha है जिसके वजह से उन्हें समाज में बराबर का दर्जा पाने के लिए कठिन सफर तय करना पड़ा पर वो कहते हैं न मेहनत और जज़्बा कभी बेकार नहीं जाता, आज कमल IIMC ( Indian Institute of Mass Communication) में students को Radio technologies & media का ज्ञान दे रहे हैं| कमल ने अपने career की शुरुवात एक TV चैनल के ज़रिये की और आज वह एक successful इंसान के भाँती normal से बेहतर ज़िन्दगी जी रहे हैं| कमल कहते हैं, “जब दूसरे लोग अपने सपनों को हासिलकर सकते हैं, तो हमें भी कोशिश करनी चाहिए.” और सभी लोगों से अपील करते हैं, “कभी कोशिश करने से डरना नहीं चाहिए, नाकामी से डरना नहीं चाहिए और किसी बात के लिए हिचक भी नहीं होनी चाहिए. किसी बात के लिए शर्म भी नहीं करनी चाहिए , हम जैसे हैं best हैं. “खुदको बेहतर बनाएं और समाज अपनेआप बेहतर बनेगा” |